हर साल इस दिन को मनाया जाएगा आतंकवाद विरोधी दिवस

हर साल इस दिन  को मनाया जाएगा आतंकवाद विरोधी दिवस

आतंकवाद के मंसूबे ध्वस्त करने के बाद केंद्र गवर्नमेंट अब हर वर्ष आतंकवाद विरोधी दिवस भी मनाने जा रही है. इसको लेकर सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र जारी किया गया है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी पत्र के अनुसार हर वर्ष 21 मई को आंतकवाद विरोधी दिवस मनाया जाएगा. यह पत्र सभी राज्य के मुख्य सचिवों, सभी मंत्रालयों और विभागों के सचिवों को लिखा गया है.

युवाओं को किया जाएगा जागरूक
पत्र में बोला गया है, इस दिन को मनाने का उद्देश्य युवाओं को आतंकवाद और हिंसा से दूर करना है. उन्हें बताया जाएगा कि आतंकवाद को समाप्त करने के लिए केंद्र गवर्नमेंट की ओर से कौन-कौन सी योजनाएं चलाई गई हैं. इसके अतिरिक्त उन्हें बताया जाएगा कि उनकी एक गलती किस तरह से राष्ट्रीय परेशानी बन सकती है. केंद्र का मानना है कि यदि युवा ठीक रास्ते पर आ गए तो आतंकवाद खुद-ब-खुद समाप्त हो जाएगा. 

दिलाई जाएगी आतंकवाद विरोधी शपथ 
पत्र में बोला गया है कि सभी कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र में आतंकवाद विरोधी शपथ भी दिलाई जाएगी. इसके अतिरिक्त डिजिटल व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से आतंकवाद विरोधी संदेश को भी प्रसारित किया जा सकता है. पत्र में बोला गया है कि केंद्र गवर्नमेंट के कार्यालयों में 21 मई को शनिवार होने के चलते अवकाश रहेगा. ऐसे में 20 मई को शपथ दिलवाई जा सकती है. हालांकि, राज्य गवर्नमेंट के दफ्तरों या जहां शनिवार का अवकाश नहीं है वहां 21 मई को ही शपथ दिलवाई जाए.


सांसद अर्जुन सिंह ने थामा TMC का दामन

सांसद अर्जुन सिंह ने थामा TMC का दामन

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में बीजेपी (BJP) को बड़ा झटका लगा है. रविवार को बीजेपी के लोकसभा सांसद अर्जुन सिंह (BJP MP Arjun Singh) कोलकाता में पार्टी महासचिव अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस पार्टी (TMC) में शामिल हुए हैं. जिसके बाद उन्होंने बीजेपी पर तंज कस्ते हुए बोला कि एयर कंडीशनर कमरों में बैठकर राजनीति नहीं की जा सकती. उसके लिए जमीन पर उतरना पड़ता है. सिंह ने बीजेपी के दो सांसदों को भी इस्तीफा देने का अनुरोध किया है.

अर्जुन सिंह ने कहा, “जिस सियासी दल में दूसरे की तरफ उंगली दिखाने की प्रयास की जाती है, उसी बीजेपी में 2 सांसद TMC के आज भी वहां हैं जिन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है. मैं उनसे अनुरोध करूंगा कि वे दोनों सांसद इस्तीफा दें. मुझे एक घंटा नहीं लगेगा, मैं इस्तीफा दे दूंगा.”सिंह ने कहा, “बंगाल बीजेपी केवल एयर कंडीशनर घर में बैठकर फेसबुक से बंगाल में राजनीति नहीं कर सकती. इसलिए बंगाल बीजेपी का दिन-प्रतिदिन ग्राफ गिर रहा है. जमीन स्तर पर राजनीति करना पड़ता है.

इससे पहले आज, बीजेपी के कामकाज पर असंतोष व्यक्त करते हुए, सिंह ने बोला था, “मैंने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के सामने अपनी राय रखी और उन्होंने बोला कि वह इस पर विचार करेंगे. बंगाल और केरल में भाजपा की कमियां हैं और यह पूरी पार्टी पर है कि वह उनसे कैसे निपटेगी, एक सांसद होने के नाते, मैं उन्हें पर्सनल स्तर पर नहीं देख सकता.

वहीं, पार्टी में अर्जुन सिंह का स्वागत करते हुए बनर्जी ने बोला कि, “सिंह ने “विभाजनकारी ताकतों” (भाजपा) को खारिज कर दिया और पार्टी में शामिल हो गए.

बनर्जी ने ट्वीट किया, “अर्जुन सिंह का गर्मजोशी से स्वागत, जिन्होंने बीजेपी में विभाजनकारी ताकतों को खारिज कर दिया और आज तृणमूल परिवार में शामिल हो गए. राष्ट्र भर के लोग पीड़ित हैं और उन्हें अब पहले से कहीं अधिक हमारी आवश्यकता है. आइए लड़ाई को जीवित रखें.

उधर, टीएमसी में शामिल होने के बाद बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह के आवास से बीजेपी के झंडे हटा दिए गए और टीएमसी के झंडे लगाए गए.