डबल के बाद अब कोविड-19 के ट्रिपल म्यूटेशन वाले वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता!

डबल के बाद अब कोविड-19 के ट्रिपल म्यूटेशन वाले वेरिएंट ने बढ़ाई चिंता!

भारत में मंगलवार को कोविड-19 वायरस के करीब 3 लाख नए मुद्दे आए और इस दौरान 2 हजार से अधिक लोगों ने इस वायरस के आगे दम तोड़ दिया. देश में प्रत्येक दिन बढ़ते मामलों के पीछे अभी तक डबल म्यूटेशन वाले वेरिएंट को उत्तरदायी बताया जा रहा था. हालांकि, अब चुनौती देश के सामने आ गई है और वह है कोविड-19 वायरस का ट्रिपल म्यूटेशन. ऐसा माना जा रहा है कि हिंदुस्तान में कोविड-19 के ट्रिपल म्यूटेशन वाले वेरिएंट ने दस्तक दे दी है.

ट्रिपल म्यूटेशन यानी कोविड-19 के तीन भिन्न-भिन्न स्ट्रेन का मिलकर एक नया वेरिएंट बनना. देश के कुछ हिस्सों में कोविड-19 का यह ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट मिलने की समाचार है. एनडीटीवी की समाचार के मुताबिक, महाराष्ट्र, दिल्ली और पश्चिम बंगाल में यह ट्रिपल म्यूटेंट वायरस मिला है.

वैज्ञानिकों का मानना है कि पूरे विश्व में कोविड-19 के तेज गति से बढ़ते मामलों की वजह इसके नए वेरिएंट ही हैं. दरअसल, वायरस जितना फैलता है, यह अपनी कई कॉपी बनाता है और इसमें कई परिवर्तन होते हैं. 

क्या है ट्रिपल म्यूटेशन?
हिंदुस्तान में इससे पहले डबल म्यूटेशन वाला वेरिएंट मिला था यानी जिसमें कोविड-19 के दो अलग स्ट्रेन मिल गए हों. अब मिले ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट में कोविड-19 के तीन स्ट्रेन मिल गए हैं. 

कहां मिला है यह नया म्यूटेशन?
अभी तक महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और दिल्ली में कोविड-19 के ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट के मिलने की समाचार है. 

क्या ट्रिपल म्यूटेशन संक्रामक है?
जानकारों का मानना है कि वायरस में हो रहे म्यूटेशन की वजह से ही केवल हिंदुस्तान नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोविड-19 के मुद्दे बढ़ते जा रहे हैं. हालांकि, ट्रिपल म्यूटेशन वेरिएंट कितना खतरनाक है या यह कितनी तेजी से फैलता है, इसका पता लगाने के लिए अभी अध्ययन करने पड़ेंगे. मौजूदा समय में हिंदुस्तान की 10 प्रयोगशाला में वायरस की जीनोम सिक्वेंसिंग हो रही है.

डबल म्यूटेंट की वजह से न केवल प्रतिदिन आने वाले मुद्दे तेजी से बढ़े बल्कि इस बार बच्चों पर भी यह वायरस प्रभाव कर रहा है. 

क्या मौजूदा वैक्सीन इसके विरूद्ध प्रभावी रहेगी?
ट्रिपल म्यूटेशन के तीन में से 2 स्ट्रेन ऐसे हैं जो खतरनाक साबित हो सकते हैं. हालांकि, अभी तक वैक्सीन का इस वेरिएंट पर प्रभाव होगा या नहीं, इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है. वैज्ञानिकों का मानना है कि इस नए वेरिएंट में शरीर के अंदर प्राकृतिक तौर कोविड-19 के विरूद्ध बनी इम्यूनिटी को बेअसर करने की क्षमता है.


देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

हिंदुस्तान में कोविड-19 वायरस ( Covid-19 in India) से दशा बेकार होते जा रहे हैं और नए मामलों में तेजी से वृद्धि होने के साथ ही मृत्यु के आंकड़ों में भी उछाल देखने को मिल रहा है  भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस सामने आए हैं वहीं बीते 24 घंटे में देश में एक दिन में रिकॉर्ड करीब 4200 कोविड-19 मरीजों की जान गई है जो अभी तक एक दिन में होने वाली सबसे अधिक मौतें हैं  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में हिंदुस्तान में 4,01,078  नए कोविड-19 मुद्दे सामने आए हैं जबकि इस दौरान 4,187 लोगों की जान गई इसके बाद हिंदुस्तान में कोविड-19 संक्रमितों की कुल संख्या 2 करोड़,18 लाख, 92 हजार, 676 हो गई है, जबकि देश में सक्रिय केस अभी करीब 37,23,446 हैं इसी दौरान 3,18,609 लोग कोविड-19 को हराकर स्वस्थ हुए

7 मई शुक्रवार को 4,12,000 से अधिक कोविड-19 वायरस के नए मुद्दे दर्ज किए गए है तब MoHFW के अनुसार, शुक्रवार को देश में 4,14,188 मुद्दे और 3,915 मौतें दर्ज हुईं थीं वहीं 6 मई को हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 वायरस के रिकॉर्ड 4,12,262 नए मुद्दे सामने आए थे जबकि संक्रमण से 3980 लोगों की मृत्यु हो गई

1 मई को  4,02,351 मुद्दे दर्ज किए जाने के बाद ये पहला केस है जब लगातार तीन दिन नए मरीजों का आंकड़ा 4 लाख के पार गया है वहीं राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां बीते 24 घंटे में कोविड-19 संक्रमण के 19832 नए मुद्दे सामने आए हैं, जबकि 341 लोगों की मृत्यु हुई है एक दिन में राजधानी में 19085 मरीज ठीक भी हुए हैं

6 मई की प्रातः काल जारी हुए आंकड़ों के अनुसार 3,980 लोगों की मृत्यु हुई थी वहीं 7 मई को 3,915 कोविड-19 संक्रमित मरीजों की मृत्यु हुई थी  

कुल केस: 2,18,92,676
कुल ठीक:1,79,30,960
डेथ टोल : 2,38,270   
सक्रिय केस: 37,23,446

इसी तरह देश में कुल 16,73,46,544 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है देश में Covid-19 के मरीजों की संख्या पिछले वर्ष सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी वहीं Covid-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी

इसके बाद 28 सितंबर को Covid-19 के मुद्दे 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख, 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार हो गए थे हिंदुस्तान ने चार मई को गंभीर स्थिति में पहुंचते हुए दो करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार सात मई तक 30,04,10,043 नमूनों की जाँच की गई है जिनमें से 18,08,344 नमूनों की शुक्रवार को जाँच की गई


ऑस्ट्रेलिया के जंगलों से आई इस भेड़ ने सोशल मीडिया पर मचा दी धूम       दो साल की मेहनत के बाद बना डाली लकड़ी की रॉयल एनफ़ील्ड बुलेट       OMG! शराब पीते ही लोग क्यों बोलने लग जाते हैं अंग्रेजी?       बिहार का ये किसान उगा रहा है दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, कीमत जानकर हैरान रह जाएंगे आप       बॉयफ्रेंड संग होटल में गई थी महिला, अचानक आ गया पति, फिर हुआ कुछ ऐसा       पति की मृत्यु के बाद महिला ने दो बेटों के साथ की खुदकुशी       कामयाबी: सीमा ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया       आईपीएल 2021: बाकी मैचों की मेजबानी के लिए श्रीलंका ने आगे बढ़ाए कदम, कहा...       आज नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए कितनी हैं कीमतें       देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस       UP: गांवों में भी जमकर टूटा कोविड-19 का कहर       मायावती ने कहा कि मजदूरों के पलायन के मामले पर नाटक कर रहे हैं सीएम Kejriwal       जीत के बाद ममता का पीएम Modi पर निशाना, कहा...       90 फीट गहरे बोरवेल में गिरा 4 साल का मासूम       कोरोना संक्रमण से ठीक हुए मरीजों में मिली नई बीमारी       रोकना संभव, देश के शीर्ष वैज्ञानिक ने बताई बड़ी बात       कोरोना संकट में सेना के रिटायर डॉक्टरों की सराहनीय पहल       भारत में कोरोना का कहर, इन राज्यों में सबसे ज्यादा केस       कोरोना से लड़ाई में साथ आए UK में रहने वाले भारतीय       स्वामी ने PMO पर लगाए गंभीर आरोप, लंदन में क्वारंटाइन किए गए हैं विदेश मंत्री जयशंकर