अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय का अध्ययन ने बताता कोरोना वायरस को यह बड़ा खुलासा

अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय का अध्ययन ने बताता कोरोना वायरस को यह बड़ा खुलासा

हो सकता है कि 21 दिन का लॉकडाउन आपको परेशान कर रहा हो, लेकिन कोरोना जैसे संक्रामक वायरस को रोकने के लिए संपूर्ण लॉकडाउन ही सबसे अच्छा तरीका है. 

अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय का अध्ययन बताता है कि एक हफ्ते के संपूर्ण लॉकडाउन से कोरोना का संभावित संक्रमण 161 गुना तक कम हो जाता है. यह यातायात व सोशल क्वारंटाइन जैसे तरीकों से कहीं ज्यादा अच्छा है.

अध्ययन में बताया गया है कि यदि कोरोना वायरस को रोकने के लिए कोई तरीका नहीं किए गए तो 15 मई तक प्रति एक लाख आबादी में से 161 लोग कोरोना के संक्रमण का शिकार बन जाएंगे. अगर देशभर में इस दौरान यातायात प्रतिबंधित कर दिया जाए तो यह संख्या घटकर प्रति लाख आबादी पर 48 रह जाएगी. यातायात प्रतिबंध के साथ अगर लोगों को सोशल क्वारंटाइन कर दिया जाए तो भी प्रति लाख 4 लोग इस संक्रमण का शिकार होंगे. वहीं, एक हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन कोरोना संक्रमण को एक आदमी प्रति लाख आबादी पर ला सकता है. विशेषज्ञों की मानें तो तीन हफ्ते का लॉकडाउन कोरोना वायरस के संक्रमण को पूरी तरह निष्प्रभावी कर सकता है.

। । तो ढाई महीनों में 16 लाख के पार
अध्ययन में बोला गया है कि अगर कड़े प्रतिबंध नहीं उठाए जाएंगे तो देश में कोरोना संक्रमण के मुद्दे अभी जो कुछ सैकड़ा हैं, अगले ढाई महीनों में बढ़कर 16 लाख के पार चले जाएंगे. तब इन्हें रोकना असंभव हो जाएगा. अध्ययन में बोला गया है कि वर्तमान दर के हिसाब से 15 अप्रैल तक कोरोना संक्रमण देश में 4800 तक पहुंच जाएगा. अगले एक महीने में यानी 15 मई तक 9.15 लाख, एक जून तक 14.60 लाख व 15 जून तक 16.30 लाख को पार कर जाएगा.

कितना सटीक अध्ययन
इस अध्ययन के आंकड़े अब तक बहुत ज्यादा ठीक साबित हुए हैं. अध्ययन में 17,18 व 19 मार्च के लिए हिंदुस्तान में 119, 126 व 133 मामलों की भविष्यवाणी की गई थी. वास्तव में इन तारीखों पर क्रमशः 142, 156 व 194 केस दर्ज किए गए थे.

ऐसे बढ़ेंगे मरीज
तारीख     संभावित मरीज
15 अप्रैल   4800
15 मई    915000
1 जून    1460000
15 जून   1630000

कौन तरीका कितना कारगर
उपाय                                               संभावित मामले*
कोई तरीका नहीं                                  161
यातायात प्रतिबंध                                 48
यातायात प्रतिबंध +सोशल क्वारंटाइन       04
एक सप्ताह का संपूर्ण लॉकडाउन             01