अग्निपथ योजना: तेजस्वी ने केंद्र सरकार पर दागे सवाल, पूछा...

अग्निपथ योजना: तेजस्वी ने केंद्र सरकार पर दागे सवाल, पूछा...

तेजस्वी ने बोला कि ऐसी योजनाओं की अकाल मौत हो जाती है लेकिन बीजेपी के लोग आखिर तक फ़ालतू में इनका Hip-Hip Hurray.करते रहते है और बाद में योजना वापस ले लेते है. राजद नेता ने पूछा कि क्या ये योजना शिक्षित युवाओं के लिए मनरेगा है? या RSS का हिडेन एजेंडा है.

सेना में भर्ती के लिए केंद्र गवर्नमेंट द्वारा आई गई अग्निपथ योजना को लेकर हंगामा जारी है. इसका सबसे अधिक असर बिहार में देखने को मिल रहा है. इन सब के बीच बिहार में विपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने केंद्र गवर्नमेंट पर निशाना साधा और 20 प्रश्न दागे है. दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस में तेजस्वी यादव ने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट बताए कि 4 वर्ष के लिए बहाल होने वाले युवकों को नियमित रूप से सेना में भर्ती होने वाले युवकों की ही तरह नियमित छुट्टी मिलेगी. उन्होंने बोला कि इस योजना में केवल सैनिक को 4 वर्ष के लिए क्यों रखा जा रहा बड़े अफसर को भी रखा जाए. तेजस्वी ने स्पष्ट रूप से बोला कि केंद्र गवर्नमेंट द्वारा बिना सोचे समझे लाई गयी योजनाएँ Take off से पहले ही Crash हो जाती है. 

तेजस्वी ने बोला कि ऐसी योजनाओं की अकाल मौत हो जाती है लेकिन बीजेपी के लोग आखिर तक फ़ालतू में इनका Hip-Hip Hurray.करते रहते है और बाद में योजना वापस ले लेते है. राजद नेता ने पूछा कि क्या ये योजना शिक्षित युवाओं के लिए मनरेगा है? या RSS का हिडेन एजेंडा है. वन रैंक वन पेंशन के बजाय नो रैंक नो पेंशन लाया गया. यदि बीजेपी को ठेकेदारी प्रथा इतनी पसंद है तो बीजेपी के मंत्री अपने बच्चों को सरकारी जॉब से इस्तीफा दिलवा दें. युवा नेता ने पूछा कि यदि गवर्नमेंट अग्निवीरों को सैनिक मानती है तो क्या उन सैनिकों को ग्रेजुएटी देगी? उन्होंने पूछा कि क्या गवर्नमेंट अग्निवीरों को कैंटीन और पूर्व सैनिकों को मिलने वाली चिकित्सा सहित अन्य सैनिक सुविधाएं देगी?

केंद्र सरकारों पर प्रश्नों की झड़ी लगाते हुए तेजस्वी ने पूछा कि क्या यह पहली ऐसी सरकारी बहाली योजना नहीं है जिसमें महज 4 वर्ष में बेरोजगार होने की 75% विशुद्ध गारंटी है? उन्होंने पूछा कि 22 साल की उम्र में युवा रिटायर हो जाएंगे, क्या इससे उनकी उच्च शिक्षा प्रभावित नहीं होगी? उन्होंने स्पष्ट रूप से बोला कि इस समय जॉब को लेकर युवा तनाव में है. कुल मिलाकर देखें तो अग्नीपथ योजना को लेकर सियासी हंगामा लगातार जारी है. इन सबके बीच आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तीनों सेनाओं के प्रमुख के साथ बड़ी बैठक कर रहे हैं. अग्निपथ योजना के विरूद्ध हो रहे प्रदर्शन का सबसे अधिक असर बिहार में देखने