'जय श्री राम' के नारे से क्यों नाराज हुईं ममता बनर्जी?

'जय श्री राम' के नारे से क्यों नाराज हुईं ममता बनर्जी?

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर के मौके पर कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में जय श्रीराम के नारे लगने और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के गुस्सा दिखाने के मामले पर सियासी घमासान शुरू हो गया है। ममता बनर्जी की ओर से विरोध करने पर भाजपा ने भी जमकर पलटवार किया है। लोगों के मन मे भी सवाल उठ रहा है कि आखिर जय श्री राम के नारे से ममता बनर्जी इतनी नाराज क्यों हो गई?

ममता के नाराज होने का कारण बताते हुए भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कहा है, ''ममताजी ने आज बहुत ही पवित्र मंच पर जय श्रीराम के नारे पर राजनैतिक एजेंडा सेट किया। हम इसकी निंदा करते है, नेताजी की 125वीं जयंती के मंच जहां प्रधानमंत्री उपस्थित हो। वहां चुनाव को देखते हुए राजनैतिक एजेंडा सेट करना। अल्पसंख्यक लोगों को खुश करने की तुष्टिकरण की नीति है।''


इससे पहले, कैलाश विजयवर्गीय ने नारेबाजी के वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा था कि जय श्रीराम के नारे से स्वागत, ममताजी अपमान मानती हैं। यह कैसी राजनीति है।

नेता जी के परपोते ने भी दी प्रतिक्रिया

नेताजी के परपोते और बीजेपी नेता चंद्र कुमार बोस ने भी कहा कि चाहे आप जय हिंद कहें या फिर जय श्रीराम, मुझे दोनों में कोई भिन्नता नहीं दिखती है। जय श्रीराम कोई ऐसा नारा नहीं है कि जिसमें इस तरह की प्रतिक्रिया दी जाए।

जानिए, क्या है नारेबाजी का पूरा मामला

दरअसल, ममता बनर्जी ने शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाने के लिए विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित एक कार्यक्रम में तब बोलने से इनकार कर दिया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में वहां जय श्री राम के नारे लगाए गए। कार्यक्रम में बनर्जी ने अपना भाषण शुरू नहीं किया था। उसी समय तभी भीड़ में शामिल कुछ लोगों द्वारा नारा लगाया गया। बनर्जी ने कहा कि कि ऐसा अपमान अस्वीकार्य है। उन्होंने कहा, यह एक सरकारी कार्यक्रम है, कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं। एक गरिमा होनी चाहिए। किसी को लोगों को आमंत्रित करके अपमानित करना शोभा नहीं देता। मैं नहीं बोलूंगी। जय बंगला, जय हिंद।


महाराष्ट्र व केरल में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के नए मामले

महाराष्ट्र व केरल में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के नए मामले

देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कुछ खास राज्यों में ही तेजी से बढ़े इन मामलों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। गुरुवार को 34 दिन बाद देश में सबसे ज्यादा 17,407 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 89 लोगों की मौत हुई है। 17 हजार से ज्यादा मामले आखिरी बार बीती 29 जनवरी को दर्ज किए गए थे। तब कोरोना के एक दिन में 18 हजार 555 मामले सामने आए थे। नए मामलों में सबसे ज्यादा 9,855 मामले महाराष्ट्र से और 2,765 मामले केरल के हैं।

अबतक एक लाख 57 हजार 435 लोगों की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से गुरुवार सुबह आठ बजे जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या एक करोड़ 11 लाख 56 हजार 923 पहुंच गई है। इनमें से एक लाख 57 हजार 435 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या फिलहाल एक लाख 73 हजार 413 है। वहीं अस्पताल से छुट्टी पाने वालों की संख्या एक करोड़ 8 लाख 26 हजार 75 हो गई है।


भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने ट्वीट कर बताया है कि देश में बुधवार तक कुल 21 करोड़ 91 लाख 78 हजार 908 नमूनों की कोरोना जांच की जा चुकी है। सात लाख 75 हजार 631 नमूनों की जांच बुधवार को की गई।

इन राज्यों से सामने आ रहे हैं सबसे ज्यादा मामले

बता दें कि महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, तमिलनाडु, गुजरात और कर्नाटक में कोरोना संक्रमण के नए मामलों में वृद्धि जारी है। पिछले 24 घंटे में इस महामारी के सामने आए नए मामलों में से करीब 85.51 फीसद मामले इन्हीं राज्यों में दर्ज किए गए।


केरल में 2,765 और पंजाब से 722 नए मामले दर्ज किए गए

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार बीते 24 घंटों में महाराष्ट्र में 9,855, केरल में 2,765 और पंजाब में 772 नए मामले दर्ज किए गए। इस दौरान संक्रमण से जिन 89 लोगों की मौत हुई उनमें भी सर्वाधिक 42 लोग महाराष्ट्र के हैं। इसके बाद केरल से 15 और पंजाब से 12 लोगों की मौत की खबर मिली है।

उप्र, मप्र व राजस्थान समेत 23 राज्यों में कोरोना से एक भी मौत नहीं


इस दौरान 23 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना से एक भी मौत होने की खबर नहीं मिली। इनमें उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, असम, ओडिशा आदि शामिल हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि केंद्र उन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लगातार संपर्क में है और जानकारी ले रहा है, जहां इस महामारी के मामलों की संख्या बढ़ रही है।


NIOS द्वारा मदरसों में गीता, रामायण की पढ़ाई वाली रिपोर्ट गलत, केंद्र ने कहा...       महाराष्ट्र व केरल में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के नए मामले       SC का निर्देश, प्राइवेट अस्पतालों में इलाज के लिए बुजुर्गों को मिले प्राथमिकता       जम्मू-कश्मीर परिसीमन आयोग को मिला एक साल का विस्तार       इन राज्यों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की चेतावनी, जानें       पीएम मोदी को कल ऊर्जा एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए मिलेगा अंतरराष्ट्रीय सम्मान       ओटीटी प्‍लेटफार्म के प्रतिनिधियों से मिले प्रकाश जावडेकर, बोले...       बेटी के पैदा होने पर क्रिकेट से दूर रहे थे विराट कोहली, जानें       Qubool Hai 2.0 Trailer: क्या परवान चढ़ेगी ज़ोया-असद की प्रेम कहानी? देखिए       इंदू की जवानी, साइलेंस और क़ुबूल है 2.0 समेत इस महीने आएंगी ये फ़िल्में और वेब सीरीज़       Dhamaka Teaser: कार्तिक आर्यन ने दी 'ब्रेकिंग न्यूज़', नेटफ्लिक्स पर करेंगे 'धमाका'       Tandav Web Series केस में अमेज़न प्राइम वीडियो ने पहली बार मांगी माफ़ी       Netfilx ने किया 40 से अधिक वेब सीरीज़, फ़िल्मों और शोज़ का एलान, कई सितारों की दस्तक       बताया- क्यों इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज को कराना चाहती है ड्रॉ, कप्तान जो रूट ने किया खुलासा!       IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी       मोटेरा की पिच को लेकर इंग्लैंड के दिग्गज ने कसा तंज, बोले...       प्रेस कॉन्फ्रेंस में टर्निंग पिच के सवाल पर भड़के विराट कोहली       फैंस के नंबर्स की तरफ मेरा ध्यान नहीं, एक अच्छा क्रिकेटर व इंसान बनना चाहता हूं : विराट कोहली       ट्रंप बनाएंगे अलग पार्टी! राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के दिए संकेत       रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...