कोरोना वायरस के प्रकोप सी बचने के लिए घर पर इन तरीको से बनाए हैंड सैनिटाइजर

कोरोना वायरस के प्रकोप सी बचने के लिए घर पर इन तरीको से बनाए हैंड सैनिटाइजर

कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. Covid-19 नाम के इस वायरस से बचने के लिए चिकित्सक लोगों को भीड़-भाड़ वाली जगहों पर न जानें की हिदायत के साथ, घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनने व हाथों को समय-समय पर सैनिटाइज करने की सलाह दे रहे हैं. 

लोगों में इस बीमारी का खौफ इतना बढ़ गया है कि बाजारों से हैंड सैनिटाइजर व मास्क तक गायब हो चुके हैं. अगर आपके घर या बाजार के आसपास भी  हैंड सैनिटाइजर मिलना बंद हो गया है तो घबराने की आवश्यकता नहीं है. आइए जानते हैं घर पर ही कैसे सरलता से इन 6 चीजों को मिलाकर बनाया जा सकता है हैंड सैनिटाइजर.

इन छह चीजों से मिलकर बनता है हैंड सेनेटाइजर-
1-खुशबूदार ऑयल या नींबू का रस : 

इसके लिए लैवेंडर तेल जैसा कोई भी सुगंधित ऑयल प्रयोग किया जाता है जो एल्कोहल की महक को कम करता है. हां, खुशबू के नाम पर इत्र का छिड़काव जरूर कुछ कर दिया जाता है.
 
2-आईसोप्रॉपिल एल्कोहल या रबिंग एल्कोहल : 
आपको इंजेक्शन देने से पहले चिकित्सक व नर्स आपकी स्किन को साफ करने के लिए स्कीन पर जो लिक्विड रगड़ते हैं, वही रबिंग एल्कोहल है. इसमें 99 फीसदी एल्कोहल होता है. कीटाणुओं को मारने में वास्तविक किरदार इसी की होती है.
  
3-बेंजाल्कोनियम क्लोराइड : 
ये विषाणुओं के लिए जहर समान होता है, जो उन्हें हाथों से बाहर निकाल देता है. सेनेटाइजर लगाने के बाद स्कीन में होने वाली हल्की से जलन इस केमिकल की मौजूदगी का प्रमाण होती है.
 
4-एलोवेरा कारागार : 
यह कारागार सेनेटाइजर में आर्द्रक का कार्य करता है यानी यह कारागार आपके स्किन से एल्कोहल को तुरंत सूख जाने या उड़ जाने से बचाता है.
 
5-ट्राइक्लोसान : 
हैंड सेनेटाइजर में ट्राइक्लोसान नाम एक केमिकल होता है, जिसे हाथ की स्कीन सोख लेती है. ये केमिकल हाथ के अंदर तक चला जाता है व कीटाणुओं का खात्मा करता है.
 
6-फैथलेट्स: 
सेनिटाइजर में फैथलेट्स नाम का एक केमिकल खुशबू के लिए मिलाया जाता है. हलांकि सेनेटाइजर में इसकी मात्रा ज्यादा नहीं होनी चाहिए. यह एक कैमिकल होता है.