आखिर क्यू सेक्स के दौरान लड़कियों को होता है दर्द, जाने क्या है वजह

आखिर क्यू सेक्स के दौरान लड़कियों को होता है दर्द, जाने क्या है वजह

यह बात तो हम सभी जानते है कि संभोग से जुड़ी ऐसी बहुत सी बातें से है जो आज तक इस कई लोगों को पता नहीं चल पाई कई लोगों का बोलना होता है कि संभोग जीवन का एक ऐसा भाग है जिसे हर कोई जीना चाहता है व वहीं कई लोगों का बोलना है कि संभोग केवल अच्छा समय बिताने कि एक क्रिया है लेकिन संभोग के समय स्त्रियों को होने परिवर्तन में पहली बार संभोग के दौरान लड़कियों को अपने प्राइवेट भाग में दर्द महसूस होता है।

समय के साथ यह दर्द कम हो जाता है व कपल नयी पोजिशन्स तक इंजॉय कर पाता है। लेकिन आखिर पहली बार संभोग के दौरान लड़कियों को दर्द होता क्यों है? तो चाहिए जानते है इसके बारें में

दर्द के है अलग कारण; जब फर्स्ट टाइम संभोग के दौरान फीमेल को पेनिट्रेशन के दौरान दर्द होता है तो इसकी भिन्न-भिन्न वजह हो सकती है।

हाइमन टूटना: हाइम एक बहुत पतली टिशू होती है जो वजाइना की एंट्रेंस को कवर करती है। पेनिट्रेशन के दौरान यह हाइमन टूट जाता है, जिससे दर्द होता है व थोड़ी ब्लीडिंग भी होती है।

वजाइना ओपनिंग का स्ट्रेच होना: हेवी एक्सर्साइज, साइकलिंग, रनिंग आदि जैसी ऐक्टिविटीज के कारण हाइमन टूट सकता है। ऐसी महिलाएं जिनका हाइमन टूट चुका होता है वे भी फर्स्ट टाइम संभोग के दौरान दर्द महसूस करती हैं जिसकी वजह वजाइना ओपनिंग का छोटा होना है। पेनिट्रेशन के कारण इस एरिया की मसल्स स्ट्रेच होती हैं जिससे दर्द का अनुभव होता है।

डर: आमतौर पर लड़कियों के दिमाग में यह बैठा होता है कि फर्स्ट टाइम संभोग के दौरान दर्द होगा ही। माइंड रिलैक्स नहीं होने पर पेनिट्रेशन में परेशानी आती है जो ज्यादा दर्दभरा अनुभव बन जाता है।

लूब्रिकेशन में कमी: वजाइना में लूब्रिकेशन की कमी दर्द का बड़ा कारण है। बेहतर यही है कि फर्स्ट टाइम संभोग के दौरान लूब्रिकेशन का प्रयोग जरूर करें, इससे दर्द जरूर कम होगा।

सर्विक्स से कॉन्टैक्ट: दर्द का एक कारण डीप पेनिट्रेशन भी है। इस तरह के संभोग में पीनस सर्विक्स के कॉन्टैक्ट में आ जाता है जिससे दर्द होता है।