Vladimir Putin ने रूसी कोरोना वैक्सीन को बताया दमदार, कहा...

Vladimir Putin ने रूसी कोरोना वैक्सीन को बताया दमदार, कहा...

रूस के राष्ट्रपति (Russian President) व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने कोविड-19 वायरस वैक्सीन को लेकर एक बड़ा बयान दिया है उन्होंने रूस में बनी कोविड-19 वैक्सीन ( कोरोना वैक्सीन ) को कारगर और प्रभावी बताते हुए बोला कि वैक्सीन उतनी ही भरोसेमंद हैं, जितना कलाश्निकोव राइफल (Kalashnikov Rifle) विश्वसनीय है  

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने वीडियो के माध्यम से कहा, 'हमारी दवाएं उन टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं, जिन्हें दशकों से भिन्न-भिन्न मंचों पर उपयोग किया जा रहा है ये दवाएं बहुत आधुनिक और आज के समय के मुताबिक हैं निस्संदेह ये सबसे विश्वसनीय और सबसे सुरक्षित हैं ' ये बातें पुतिन ने उप प्रधान मंत्री Tatyana Golikova से बात करते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कही  

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने जोर देकर कहा, 'ये वैक्सीन एके-47 (AK-47) की तरह विश्वसनीय है ये बात हम नहीं कह रहे, बल्कि यूरोपीय जानकार ने कही है और मुझे लगता है कि वो निश्चित रूप से ठीक कह रहे हैं ' रूसी वैक्सीन के बारे में बात करते हुए राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने संतोष जाहिर किया है   

रूसी राष्ट्रपति (Russian President) ने कहा, 'मैं समझता हूं कि वैश्विक प्लेटफार्म्स ने अमेरिका की मॉडर्ना वैक्सीन का समर्थन करने का निर्णय किया है, जो कि अन्य अमेरिकी-यूरोपीय कंपनी फाइजर का मुकाबला कर रही है इन दोनों के बीच मार्केट में कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है ' पुतिन ने कहा, 'जहां तक मुझे समझ में आता है विदेशों में जानकारों और सहकर्मियों की रिपोर्ट के मुताबिक ये बहुत ज्यादा इनोवेटिव ड्रग है और आधुनिक भी ' पुतिन ने उम्मीदें जताते हुए बोला कि बस एक्सपर्ट्स गलत न हों  

आगे पुतिन (Vladimir Putin) ने कहा, 'असल में ये वैक्सीन कितनी कारगर है, ये हमें आने वाले 10 वर्षों में इस्तेमाल करते रहने के बाद पता चलेगा लंबे समय तक इस्तेमाल किए जाने के बाद जब इसका विश्लेषण किया जाएगा तो इसके ठीक रिज़ल्ट पता चलेंगे राष्ट्रपति ने जोर देकर बोला कि स्पुतनिक लाइट (Sputnik Light) सहित रूसी जैब्स प्रौद्योगिकियों पर आधारित हैं, जिनका उपयोग दशकों से किया गया है


नेपाल में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए जारी हुई चेतावनी

नेपाल में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए जारी हुई चेतावनी

नेपाल में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डोलखा जिला प्रशासन (Dolakha district) ने तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए बाढ़ की चेतावनी जारी की है। भूस्खलन ने रोंगक्सिया शहर (RongXia city) टिंगरी काउंटी (Tingri County)के पास नदी प्रणाली को क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह अचानक बाढ़ का कारण बन सकता है।

बाढ़ में 11 लोगों की मौत, 25 लोग लापता

बता दें कि सिंधुपालचोक जिले में लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन और बाढ़ ने 11 लोगों की जान ले ली है। वहीं, 25 लोगों के लापता हो चुके हैं। मृतकों में एक भारतीय और दो चीनी नागरिक शामिल हैं। तीनों मृतक विदेशी नागरिक हैं और ये एक चीन की कंपनी के लिए काम कर रहे थे।

जिला प्रशासन के मुताबिक तीनों मृतक इलाके में चल रही एक विकास परियोजना में श्रमिक के तौर पर काम कर रहे थे। मृतकों के शव जिले के मेलमची शहर के पास बरामद किए गए थे। इलाके में बुधवार को अचानक आई बाढ़ ने अपनी चपेट में ले लिया था। जिला अधिकारी बाबूराम खनाल के मुताबिक, तीनों मृतक विदेशी नागरिक थे और ये एक चीन की कंपनी के लिए काम कर रहे थे। जो पेयजल परियोजना के तहत काम पर लगी है।

वहीं नेपाल के गृह मंत्रालय ने गुरुवार देर रात पुष्टी की है कि, चीन के तिब्बत क्षेत्र की सीमा से लगे पहाड़ी जिले सिंधुपालचोक और देश के अन्य हिस्सों में आई बाढ़ में 25 लोग लापता हैं। गौरतलब है कि नेपाल में आमतौर पर मानसून की बारिश जून के महीने में शुरू होती है और सितंबर के आखिरी तक चलती है। रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल में हर साल बारिश के महीनों में हजारों लोगों की मौत होती है।