तालिबान ने अमेरिका से लगाई फरियाद, फिर अमेरिका ने याद दिलाईं अंतर्राष्ट्रीय मांगें

तालिबान ने अमेरिका से लगाई फरियाद, फिर अमेरिका ने याद दिलाईं अंतर्राष्ट्रीय मांगें

काबुल: अफगानिस्तान में तालिबान की अगुआई वाली अंतरिम सरकार ने अमेरिका और पश्चिमी दुनिया को उन वादों की याद दिलाई है, जो अमेरिका ने तालिबान के टॉप को ग्लोबल पाबंदियों से फ्री करने और आतंकवादी सूची से हटाने के लिए किए थे इसमें तालिबान सरकार की वैलिडिटी सुनिश्चित करने का वादा भी शामिल था

तालिबान ने वॉशिंगटन (Washington) से अपने वादे को पूरा करने और अफगानिस्तान में सरकार की स्थापना की अनुचित आलोचना से दूर रहने की मांग की है तालिबान सरकार के कार्यवाहक विदेश मंत्री, धनी मुत्ताकी ने खुलासा किया कि दोहा समझौते के दौरान अमेरिका ने लिखित में दिया था कि वह अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार की वैलिडिटी सुनिश्चित करेगा और तालिबान के वरिष्ठ नेताओं के नामों को ग्लोबल प्रतिबंधों और नामित सूचियों से भी हटाएगा

बताते चलें कि, पश्चिमी देश, अफगानिस्तान में तालिबान के अंतरिम सेटअप की आलोचना कर रहे हैं, जिसमें उन लोगों के नाम हैं, जिनके विरूद्ध ग्लोबल प्रतिबंध हैं, इसके अतिरिक्त उनके सिर पर लाखों US डॉलर के पुरस्कार भी हैं अमेरिका के साथ ही पश्चिमी राष्ट्रों और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय ने बोला है कि उनके लिए संदिग्ध इतिहास और ग्लोबल प्रतिबंधों के साथ वैसे तालिबान नेतृत्व को पहचानना मुश्किल है और वह कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहते हैं हालांकि, तालिबान का नया बयान यह खुलासा करता है कि तालिबान नेतृत्व को ग्लोबल स्तर पर मान्यता देना दोहा समझौते का भाग है, जिस पर अमेरिकी सरकार ने भी सहमति दर्ज की है

बताते चलें कि वॉशिंगटन ने अब तक अंतरिम तालिबान सरकार को कोई मान्यता नहीं दी है और जोर देकर बोला है कि जब तक तालिबान अंतर्राष्ट्रीय मांगों और चिंताओं को पूरा नहीं करता, तब तक कोई मान्यता नहीं दी जा सकती है

इन अंतर्राष्ट्रीय मांगों में स्त्रियों और अन्य जातीय समूहों के अगुवाई के साथ एक समावेशी सरकार का गठन, स्त्रियों के अधिकारों का प्रावधान और अफगानिस्तान को आतंकी संगठनों के लिए एक सुरक्षित पनाहगाह में नहीं बदलने पर पॉजिटिव कमिटमेंट शामिल है, जो अमेरिका के साथ ही क्षेत्र और बाकी दुनिया के लिए एक प्रमुख सुरक्षा चिंता का विषय बन सकता है लेकिन इस मुद्दे पर तालिबान का बोलना है कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की सभी मांगों को पहले ही पूरा किया जा चुका है

कार्यवाहक विदेश मंत्री मुत्ताकी ने कहा, मौजूदा अंतरिम सरकार एक समावेशी सरकार है और इसमें सभी जातियों का अगुवाई है हमने प्रारम्भ से ही यह बोला है कि हमारी धरती को आतंकवाद के लिए इस्तेमाल नहीं होने दिया जाएगा और अफगानिस्तान में महिलाएं अपनी एजुकेशन और कार्य जारी रखने के लिए स्वतंत्र हैं यह एक अंतरिम सरकार है और जब तक हम स्थायी सरकार नहीं बना लेते, तब तक व्यवस्था में परिवर्तन किए जाएंगे


डेंगू ने पाकिस्तान में भी पसारे पैर, रिकार्ड संख्या में इस्लामाबाद में दर्ज हुए मामले

डेंगू ने पाकिस्तान में भी पसारे पैर, रिकार्ड संख्या में इस्लामाबाद में दर्ज हुए मामले

डेंगू का कहर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी पहुंच गया है। यहां पर प्रत्येक दिन काफी संख्या में मामले दर्ज हो रहे हैं। रिकार्ड संख्या में पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में डेंगू के मामले दर्ज हो रहे हैं।

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इस्लामाबाद में रिकार्ड संख्या में डेंगू के मामले सामने आए हैं, जो सरकार और देश के लोगों के लिए चिंता बढ़ा रहे हैं। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा जाइम जिया ने बताया कि पिछले 24 घंटों में इस्लामाबाद में 152 नए मामले सामने आए हैं। जिसके बाद कुल आंकड़ा 1,801 हो गई है।


डान के अनुसार, 13 अक्टूबर को राजधानी में 125 मामले दर्ज किए गए थे। अधिकारी ने जोर देकर कहा कि 84 मामले ग्रामीण क्षेत्रों से और 68 शहरी क्षेत्रों से सामने आए हैं।

पाकिस्तान में महंगाई भी लगातार बढ़ रही है। नतीजन टमाटर, आलू और घी जैसे खाद्य पदार्थो के दाम आसमान पर पहुंच गए हैं। सांख्यिकी ब्यूरो (पीबीएस) ने अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट बताया कि देश में महंगाई 12.66 फीसद बढ़ी है। ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सप्ताह टमाटर, आलू, घी, मांस और रसोई गैस (एलपीजी) जैसी 22 चीजें और महंगी हो गई हैं।


साप्ताहिक रिपोर्ट के अनुसार, एलपीजी सिलेंडर की कीमत में 43.96 रुपये प्रति किलो की वृद्धि हुई है। घी 2.99 रुपये और मांस 4.58 रुपये प्रति किलोग्राम महंगा हो गया है। इस बीच, 14 रुपये की वृद्धि के साथ खाद्य तेल की कीमत 110 रुपये प्रति लीटर हो गई है। देश में खाद्य पदार्थो समेत रोजमर्रा की वस्तुओं के दाम लगातार बढ़ने से लोगों के घर का बजट बिगड़ गया है।

अधिकारियों ने इस बात को लेकर चिंता जताई है कि आने वाले दिनों में महंगाई और बढ़ सकती है। जियो न्यूज के मुताबिक, घी की कीमत 15 रुपये बढ़कर 49 रुपये प्रति किलो हो गई है। दो किलो वाशिंग पाउडर की कीमत भी 10 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये कर दी गई है, जबकि 100 ग्राम बॉडी लोशन की कीमत में 20 रुपये की बढ़ोतरी की गई है।