जानलेवा कोरोना वायरस से इतने लोगो की हुई मौत

जानलेवा कोरोना वायरस से इतने लोगो की हुई मौत

जानलेवा कोरोना वायरस ( Coronavirus ) की दहशत दुनियाभर में ऐसे फैल चुकी है कि लोग अपनी जान बचाने के लिए किसी भी हद तक जा रहे हैं. जहांं एक ओर जापान ( Japan ) में इस संक्रमण के भय डायमंड प्रिंसेज क्रूज ( Diamond Princess Cruise ) जहाज पर हजारों यात्रियों

को मरने के लिए छोड़ दिया था. वहीं, अब समाचार आ रही है कि चाइना ( China ) ने भी एक जहाज ( Flight ) में इस वायरस के भय से 94 लोगों को अलग ( Quarantines ) छोड़ दिया.

तीन यात्रियों में बुखार जैसे लक्षण मिलने के बाद कार्रवाई

दरअसल, इस फ्लाइट में तीन लोगों में बुखार जैसे लक्षण देखे गए, जिसके बाद सियोल से नानजिंग जा रही फ्लाइट के 94 यात्रियों को अलग कर दिया गया. इस बारे में चाइना के स्टेट ब्रॉडकास्टर सीसीटीवी के हवाले से बुधवार को जानकारी मिली है. स्टेट मीडिया रिपोर्ट के हवाले से बताया जा रहा है कि सियोल से आने वाली फ्लाइट संख्या OZ349 मंगलवार दोपहर को चाइना के शहर नानजिंग में लैंड हुई थी. जिसके बाद इसके यात्रियों को अलग कर दिया गया है.

ईरान में बढ़ता जा रहा है coronavirus s का कहर, उप स्वास्थ्य मंत्री वायरस से संक्रमित

पीड़ितों का वुहान से कोई कनेक्शन नहीं

स्टेट मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में यह भी लिखा है कि बुखार से पीड़ित इन तीनों चाइना पर्यटकों का वुहान या हुबेई से कोई संबंध सामने नहीं आया है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि इसी प्रांत से कोरोना वायरस का प्रकोप उपजा है.

जापानी क्रूज में 4 लोगों की जा चुकी है जान

दूसरी तरफ यह भी जानकारी मिल रही है कि जापान के योकाहामा बंदरगाह पर खड़े डायमंड प्रिंसेस क्रूज ( Diamond Princess Cruise ) में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है व साथ ही अब तक चार लोगों की मृत्यु हो चुकी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, संक्रमण से एक बुजुर्ग आदमी की मृत्यु हो गई, जिनकी आयु करीब 80 साल थी. इस विषय में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोई रिएक्शन नहीं दी है.

कोरोनावायरस के खतरे में 3700 यात्रियों की जान

इसके अतिरिक्त जापान के तट पर खड़े डायमंड प्रिंसेस जहाज में उपस्थित दो व भारतीय कोरोन वायरस से संक्रमित हो गए हैं. इसके साथ ही वायरस से संक्रमित हिंदुस्तानियों की संख्या 14 पहुंच गई है. इस क्रूज में कई राष्ट्रों के 3700 यात्री सवार हैं. क्रूज को उस वक्त लावारिस छोड़ दिया गया था जब उसमें एक हांगकांग सवार के अंदर कोरोना वायरस के लक्षण देखने को मिले. इसके बाद जापान ने किसी भी यात्री को अपने तट पर उतरने की अनुमति नहीं दी थी. फरवरी की आरंभ से खड़े इस क्रूज में वायरस संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है.