एक दिन में हो रही कई मौतें, नहीं थम रहा अमेरिका में कोरोना का आतंक

एक दिन में हो रही कई मौतें, नहीं थम रहा अमेरिका में कोरोना का आतंक

नई दिल्ली/वाशिंगटन: अमेरिका में कोविड महामारी कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। मौत के आंकड़े रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। बीते 24 घंटों के दौरान 3157 लोगों की मौत जान चुकी है। अब तक अप्रैल में एक दिन में सबसे अधिक मौत के आंकड़े थे। यह आंकड़ा उससे बीस प्रतिशत रहा है। इस दौरान अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन यानी सीडीसी ने कोविड संक्रमण के दौरान क्वारंटाइन किए जाने की समयावधि को लेकर अपने दिशा-निर्देशों को संशोधित कर रहे है।

जांच नतीजों पर निर्भर करेगी क्वारंटाइन की मियाद: सीडीसी ने अमेरिका में क्वारंटाइन रहने की अवधि 14 दिन से घटाकर 10 किया जा चुका है। हालांकि यह मरीज की जांच के नतीजे और लक्षणों पर निर्भर होगी। रिपोर्ट के अनुसार यदि किसी मरीज में कोई लक्षण नहीं है तो उसे टेस्ट के बिना सिर्फ 10 दिन तक क्वारंटाइन में रहने की आवश्यकता होगी। यदि टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव है तो समयावधि को घटाकर 7 दिन किया जा चुका है।

अस्‍पतालों में एक लाख से ज्यादा मरीज: जंहा इस बात का पता चला है कि 15 अप्रैल को 2603 लोगों की मौत हुई थी। जबकि अब तक 2 लाख 73 हजार से अधिक लोगों की जाने जा चुकी है। कोविड ट्रेकिंग रिपोर्ट के मुताबिक एक लाख से ज्यादा लोग हॉस्पिटल्स में भर्ती हैं। अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन सेंटर के निदेशक रॉबर्ट रेडफील्ड ने कहा है कि अमेरिका की स्वास्थ्य सेवाओं के इतिहास में दिसंबर जनवरी और फरवरी महीने सबसे कठिन समय के रूप में सामने आ रहे है।


क्या गांजे को करे दें लीगल, जनता से पूछा गया सवाल

क्या गांजे को करे दें लीगल, जनता से पूछा गया सवाल

पूरे यूरोप में फ़्रांस में गांजे (कैनाबिस) के खिलाफ सबसे सख्त कानून हैं। इसके बावजूद पूरे यूरोप में फ़्रांस में सबसे ज्यादा गांजे का उपभोग होता है। गांजा-भांग पर कानून के डंडे से रोक लगा पाने में असफल रहने पर अब फ़्रांस के सभी दलों के सांसदों ने इस मसले पर जनता की राय लेने का अभियान चलाया है।

गांजे को लीगल करने पर विचार
फ़्रांस के ढेरों सांसदों का मानना है कि देश के राजनीतिक वर्ग को गांजे को लीगल करने के बारे में सोचना चाहिए। इसी मंशा के चलते फ़्रांस की नेशनल असेम्बली की वेबसाइट पर 13 जनवरी को जनता की राय मांगने का कंसल्टेशन पेपर जारी किया गया। देखते देखते पौने दो लाख लोगों ने अपनी राय वेबसाइट पर डाल भी दी। आमतौर पर ऐसी रायशुमारी में औसतन 30 हजार जवाब ही आते हैं।

गांजा लीगल किया जाये कि नहीं इस पर जनता की राय 28 फरवरी तक ली जायेगी। इस रायशुमारी के दो मकसद हैं – ये जानना कि फ्रेंच नागरिकों के गांजे के बारे में क्या विचार हैं और लोग गांजा-भांग पर किस तरह की सरकारी पॉलिसी चाहते हैं। लोगों की क्या राय है इसे अप्रैल में प्रकाशित किया जाएगा।

फ्रेंच प्रेसिडेंट इमानुएल माक्रों की पार्टी की सांसद कैरलाइन जनिविएर का कहना है कि जनता की राय जानने से हमें बहुत फायदा मिलेगा। उन्होंने कहा कि जनता की राय पता करके शायद इस बात की पुष्टि हो सकेगी कि फ़्रांस का राजनीतिक वर्ग मजे के लिए कैनाबिस के इस्तेमाल के प्रति काफी कम सहानुभूति वाला रुख रखता है, जबकि जनता का रुख इसके विपरीत है। उन्होंने कहा कि हर साल फ़्रांस 568 मिलियन यूरो गांजे की तस्करी रोकने पर खर्च करता है। इसको देखने की जरूरत है।

फ़्रांस की सरकारों ने हमेशा ही गांजे को अपराध की श्रेणी से बाहर लाने की मजबूत खिलाफत की है। 2019 में जब प्रधानमंत्री कार्यालय के आर्थिक सलाहकार ग्रुप ने ‘नशाबंदी पर असफलता’ की रिपोर्ट प्रकाशित की और गांजे को कानूनी वैधता देने का प्रस्ताव किया तो सरकार ने सख्त प्रतिक्रिया दिखाई। हेल्थ मिनिस्टर एग्नेस बुज्य्न ने सार्वजानिक तौर पर कहा कि वे गांजे के खिलाफ हैं। सितम्बर 2020 में आन्तरिक मंत्री गेराल्ड दर्मनिन ने कफा था कि हम इसे लीगल करने नहीं जा रहे।

यहां होता है सबसे ज्यादा इस्तेमाल
पूरे यूरोप में फ़्रांस ही ऐसा देश है जहाँ गांजा सबसे ज्यादा उपभोग किया जाता है। 2016 में 15 से 64 वर्ष के फ्रेंच नागरिकों में से 41 फीसदी ने कम से कम एक बार गांजा जरूर पिया था। यूरोप में ये आंकड़ा 18.9 फीसदी का है।


ये देश लिखना पढ़ना नहीं जानते, क्या सच में है ऐसा ?       क्या गांजे को करे दें लीगल, जनता से पूछा गया सवाल       ऐसे लोगों में कोविड-19 से संक्रमित होने का खतरा कम, सीरो सर्वे का चौंकाने वाला दावा       शुभेंदु की ममता को ललकार, चुनावी सीट पर घमासान       अभी अभी: लड़ाकू विमान राफेल- आसमान में दिखेगी ताकत, जोधपुर में गरजेगा ये देश       धमाके से कांपा जमशेदपुर, ब्लास्ट से डरे-सहमे लोग       SC की दो टूक, दिल्ली में कौन आएगा, तय करे पुलिस       शुभेंदु अधिकारी की रैली में बड़ा हंगामा, भयानक झड़प BJP-TMC कार्यकर्ताओं में       सबसे ऊंचा कृष्ण मंदिर, अब जयपुर में पधारेंगे कन्हैया       इस बड़े बैंक ने करोड़ों ग्राहकों को दिया बड़ा तोहफा       अदाणी समूह द्वारा संचालित तीन हवाई अड्डों को मिला सम्मान       फटाफट कर लें खरीदारी, जानें क्या है नई कीमत       कुंडली में सबसे खास ये ग्रह, कमजोर हुआ तो बनेंगे कंगाल       आ रही शानदार कारें, जल्द भारत में होंगी लॉन्च       Amazon दे रहा शानदार डील, iPhone 12 सीरीज मिल रहा गजब के ऑफर में       कार खरीदते वक्त RSA सर्विस लेना न भूलें       गूगल ने चुपके से इस खास सेवा पर लगा दी रोक       Samsung Galaxy S21 Ultra 5G की ऐसे करें प्री-बुकिंग       खुले मैदान में फ्रेंड्स के साथ गोल्फ खेलती नजर आईं जैकलीन, दिल जीत लेंगी ये मनमोहक तस्वीरें       बॉयफ्रेंड के साथ सुला वाइनयार्ड्स पहुंचीं ये एक्ट्रेस, बगीचे में लिया रेड वाइन का मजा