बाइसन को मारने US में निकली 12 वेकेंसी

बाइसन को मारने US में निकली 12 वेकेंसी

वॉशिंगटन: अमेरिका के ग्रांड कैन्‍यन नेशनल पार्क में बाइसन की भारी आबादी से निपटने के लिए ऑफिसरों ने इन्‍हें मारने स्किल्‍ड वॉलेंटियर्स की वेकेंसी निकाली है चौंकाने वाली बात यह है कि यह वेकेंसी केवल 12 लोगों के लिए निकाली गई है, जबकि यह कार्य करने के लिए 45,000 से ज्‍यादा लोगों ने आवेदन किए हैं  

वैसे तो अमेरिका के राष्‍ट्रीय उद्यानों में शिकार करना पूरी तरह प्रतिबंधित है, लेकिन बाइसन को इतने बड़े पैमाने पर मारने की इस तैयारी को शिकार करने की श्रेणी में नहीं रखा गया है बल्कि इसे बाइसन की बेतहाशा बढ़ती आबादी को कम करने का एक कदम बताया गया है बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि यूएस नेशनल पार्क सर्विस (एनपीएस) ने इस कार्य के लिए 12 कुशल स्वयंसेवकों को आमंत्रित किया है ताकि वे बाइसन की आबादी को कम करने में सहायता कर सकें सोमवार को यह जानकारी सामने आने के बाद 45,040 लोगों ने यह कार्य करने की इच्‍छा जताते हुए आवेदन दिए हैं 

वहीं इसे लेकर पर्यावरणविदों ने चिंता जताई है कि ऐसा करना खतरनाक हो सकता है वहीं ऑफिसरों ने वॉलेंटियर्स के चयन करने को लेकर बोला है कि वे पहले 25 नामों को शॉर्टलिस्ट करेंगे इसके बाद उनके स्किल्‍स की जाँच की जाएगी फिर पार्क के उत्तरी रिम क्षेत्र में बाइसन को मारने के लिए इनमें से 12 लोगों का चयन किया जाएगा

अधिकारियों का बोलना है कि पिछले कुछ वर्षों में बाइसन की तादाद तेजी से बढ़ी है, ऐसे में इन्‍हें मारने के लिए पायलट कार्यक्रम की आवश्यकता है इनके झुंड में बाइसन की संख्‍या 600 तक पहुंच गई है, जिन्‍हें कम करके 200 तक लाने की योजना है  NPS को उम्‍मीद है कि इससे मिट्टी के कटाव और जल प्रदूषण को कम करने में सहायता मिलेगी  


नेपाल में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए जारी हुई चेतावनी

नेपाल में मंडरा रहा बाढ़ का खतरा, तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए जारी हुई चेतावनी

नेपाल में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डोलखा जिला प्रशासन (Dolakha district) ने तमाकोशी नदी के किनारे रहने वाले लोगों के लिए बाढ़ की चेतावनी जारी की है। भूस्खलन ने रोंगक्सिया शहर (RongXia city) टिंगरी काउंटी (Tingri County)के पास नदी प्रणाली को क्षतिग्रस्त कर दिया है। यह अचानक बाढ़ का कारण बन सकता है।

बाढ़ में 11 लोगों की मौत, 25 लोग लापता

बता दें कि सिंधुपालचोक जिले में लगातार हो रही बारिश के कारण भूस्खलन और बाढ़ ने 11 लोगों की जान ले ली है। वहीं, 25 लोगों के लापता हो चुके हैं। मृतकों में एक भारतीय और दो चीनी नागरिक शामिल हैं। तीनों मृतक विदेशी नागरिक हैं और ये एक चीन की कंपनी के लिए काम कर रहे थे।

जिला प्रशासन के मुताबिक तीनों मृतक इलाके में चल रही एक विकास परियोजना में श्रमिक के तौर पर काम कर रहे थे। मृतकों के शव जिले के मेलमची शहर के पास बरामद किए गए थे। इलाके में बुधवार को अचानक आई बाढ़ ने अपनी चपेट में ले लिया था। जिला अधिकारी बाबूराम खनाल के मुताबिक, तीनों मृतक विदेशी नागरिक थे और ये एक चीन की कंपनी के लिए काम कर रहे थे। जो पेयजल परियोजना के तहत काम पर लगी है।

वहीं नेपाल के गृह मंत्रालय ने गुरुवार देर रात पुष्टी की है कि, चीन के तिब्बत क्षेत्र की सीमा से लगे पहाड़ी जिले सिंधुपालचोक और देश के अन्य हिस्सों में आई बाढ़ में 25 लोग लापता हैं। गौरतलब है कि नेपाल में आमतौर पर मानसून की बारिश जून के महीने में शुरू होती है और सितंबर के आखिरी तक चलती है। रिपोर्ट के मुताबिक, नेपाल में हर साल बारिश के महीनों में हजारों लोगों की मौत होती है।