इन 15 देशों में अहम पदों पर हैं काबिज, दुनियाभर में भारतीय मूल के लोगों का जलवा

इन 15 देशों में अहम पदों पर हैं काबिज, दुनियाभर में भारतीय मूल के लोगों का जलवा

नई दिल्ली: दुनियाभर में भारतीय मूल के लोगों का डंका बज रहा है। इनमें अमेरिका की उप राष्ट्रपति कमल हैरिस और ब्रिटेन के वित्त मंत्री ऋषि सुनक का नाम मुख्य रूप से शामिल है। हाल ही एक आई रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका और ब्रिटेन समेत दुनियाभर के 15 देशों में भारतीय मूल के 200 से अधिक लोग नेतृत्व के पदों कार्य कर रहे हैं।

2021 इंडियास्पोरा गर्वनमेंट लीडर्स ने यह लिस्ट जारी कर जानकारी दी है। यह रिपोर्ट लिस्ट सरकारी वेबसाइटों और सार्वजनिक रूप से उपलब्ध अन्य संसाधनों के आधार पर तैयार की है। इन 200 भारतीय मूल के लोगों में से लगभग 60 लोगों के पास कैबिनेट लेवल का दर्जा है। इनमें 10 लोग एंबेसडर, 4 लोग चीफ जस्टिस के पद हैं, 4 केंद्रीय बैकों के मुखिया है, 5 सरकार में मुख्य पदों पर काबिज हैं। 76 लोग सांसद और दो काउंसल जनरल हैं। जबकि 4 लोग सरकारी विभाग क प्रमुख हैं।

इंडियास्पोरा के संस्थापक, उद्योगपति एवं निवेशक एम आर रंगास्वामी ने इस रिपोर्ट पर कहा कि यह अत्यंत गौरवान्वित करने वाली बात है कि दुनिया के सबसे पुराने लोकतांत्रिक देश की पहली महिला और पहली अश्वेत उपराष्ट्रपति भारतीय मूल की हैं। तो वहीं अमेरिकी सांसद अमी बेरा ने कहा कि इस सूची में शामिल होना मेरे लिए गर्व की बात है। उन्होंने आगे कहा कि मुझे भारतीय-अमेरिकी समुदाय का नेता बनकर गर्व है।

किन देशों में भारतीयों का दबदबा
भारतीय मूल के लोगों ने दुनिया के कई बड़े देशों में अहम पदों पर काबिज हैं। इनमें कनाडा, अमेरिका, त्रिनिदाद टोबैगो, ब्रिटेन, आयरलैंड, गयाना, सुरिनाम, पुर्तगाल, साउथ अफ्रीका, मलेशिया, मॉरीशस, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फिजी और सिंगापुर भी शामिल हैं। 2021 इंडियास्पोरा गर्वनमेंट लीडर्स के मुताबिक, जिन देशों में भारतीय मूल के लोग शीर्ष पदों पर काबिज हैं उकी जीडीपी करीब 28 ट्रिलियन डॉलर के करीब है।

शीर्ष पदों पर काबिज हैं ये भारतीय
इन देशों में जो भारतीय मूल के लोग शीर्ष नेतृत्व पर काबिज हैं उनमें पुर्तगाली प्रधानमंत्री अंतानियो कोस्टा, गुयाना के राष्ट्रपति इरफान अली, मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविन्द जगन्नाथ, मॉरीशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रूपन, सूरीनाम के राष्ट्रपति चान संतोखी शामिल हैं।


रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...

रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड में रात के समय कुछ ऐसा हुआ, जिसे देखकर लोग अचम्भित रह गए। यहां रात में आसमान एकदम से रोशन हो गया। तभी अंतरिक्ष से कुछ बहुत तेजी से जलता हुआ धरती की तरफ आ रहा था। जिसके चलते लोगों को लगा कि कोई उल्कापिंड है। फिर लोगों ने इसकी तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर डाले। आखिरी में जब जांच की गई तो पता चला कि ये चीन द्वारा अंतरिक्ष में भेजे गए रॉकेट था, जो वायुमंडल में वापस आया तो जलने लगा।

स्पेस का कचरा है
क्वींसलैंड के आसमान पर इस रॉकेट के जलने की वजह से काफी देर तक खूब चमकदार रोशनी थी। इसका सबसे पहले वीडियो बनाने वाले जैस्पर नैश ने कहा कि पहले मुझे लगा कि ये कोई मेटियोर यानी उल्कापिंड है। पर जैसे ही यह टूट कर अलग होने लगा तो मैं और मेरी पत्नी ने कहा कि ये स्पेस का कचरा है, जो धरती पर आ रहा है।

इस बारे में साउदर्न क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर एस्ट्रोफिजिक्स के प्रोफेसर जोंटी हॉर्नर ने कहा कि ये चीन का रॉकेट था, जो वापस वायुमंडल में आ गया। और इस रॉकेट ने नवंबर 2019 में चीन के सैटेलाइट को अंतरिक्ष में स्थापित किया था। यह चीन के रॉकेट की धरती पर री-एंट्री थी।


ऐसे में एक और दर्शक जैक रॉबिन्स ने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट डाला और कहा कि मुझे पहले लगा ये उल्कापिंड है। लेकिन जब तक मुझे पता नहीं चला कि मैंने क्या देखा, तब तक सब ठीक था। जब मुझे पता चला कि वह चीन के स्पेस कचरा है। तो मैं पूरा हिल गया।

पृथ्वी पर गिरा सबसे बड़ा मलबा
बीते साल 11 मई को चीन के रॉकेट का एक बड़ा हिस्सा धरती पर गिरा था। अंतरिक्ष से पृथ्वी पर पहुंचे इस कचरे का वजन 17 हजार 8 सौ किलोग्राम है और लगभग 30 वर्षों में ये पृथ्वी पर गिरा सबसे बड़ा मलबा है। और ये मलबा चीन के ही Long March 5B रॉकेट का टुकड़ा था। एक हफ्ते तक रॉकेट ने अंतरिक्ष में चक्कर लगाया। उसके बाद बिना नियंत्रण के पृथ्वी की तरफ गिरने लगा।

वहीं इस बारे में हैरान करनेवाली एक बात ये है कि पृथ्वी पर गिरने से पहले ये कचरा अमेरिका के न्यूयॉर्क और लॉस एंजिल्स जैसे शहरों के करीब से गुजरा, और फिर ये अटलांटिक महासागर में गिर गया। और अंतरिक्ष में खराब हो चुके सैटेलाइट्स के टुकड़े बहुत तेजी से धरती का चक्कर लगाते रहते हैं। जिसकी गति 28 हजार किलोमीटर प्रति घंटा तक हो सकती है।


ट्रंप बनाएंगे अलग पार्टी! राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के दिए संकेत       रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...       असम दौरे पर प्रियंका गांधी, कामाख्या देवी मंदिर में की पूजा       इन राज्यों में 5 दिन होगी भारी बारिश, IMD ने जारी किया अलर्ट       पहला डोज लिया पीएम ने, वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू       इन राज्यों में बारिश का अलर्ट, जमकर बरसेंगे बादल       आखिर क्या होती है वीगन डाइट? आज़माने से पहले जानें नुकसान       सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें       कब्ज दूर करने से लेकर वजन घटाने तक में बेहद फायदेमंद है ये...       रहना चाहते हैं सेहतमंद तो अपने डाइट में इन चीज़ों को जरूर जोड़ें, जानें       वक्त पर हो जाए इलाज तो ब्रेन ट्यूमर भी नहीं खतरनाक       World Brain Tumor Day 2020: कैसे होती है ब्रेन ट्यूमर की शुरुआत, जानें       जब बच्चे करें हैंड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल तो जरूर रखें ध्यान       जीना चाहते हैं लंबी उम्र, तो रोज़ाना करें ये काम       पथरी की समस्या से तुरंत निजात पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय       बॉडी की इम्युनिटी पावर को बढाती है किशमिश       श्वेता तिवारी ने किया गज़ब का ट्रांसफॉर्मेशन       Bigg Boss 15: मेकर्स ने शुरू किए ‘बिग बॉस 15’ के लिए ऑडिशन       Rubina Dilaik के लिए कॉफी न लाना बन गई थी उनके तलाक का वजह       Rakhi Sawant की मां की कैंसर की खबर सुनकर सन्न रह गईं काम्या पंजाबी, लिखा...