कब्ज से राहत के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

कब्ज से राहत के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

कब्ज यानी पेट का पूरी तरह साफ नहीं होना. मल निकलने में कठिनाई होती है या थोड़ी-थोड़ी मात्रा में निकलता है. नतीजन, मरीज को दिनभर असहज महसूस होता है. इतना ही नहीं, लंबे समय तक यह स्थिति बनी रहे तो शरीर में कई बीमारियां घर कर सकती हैं. 

एम्स की डाक्टर वीके राजलक्ष्मी के अनुसार, पाचन तंत्र की खराबी के कारण ऐसा होता है. यदि कोई सप्ताह में 3 दिन से अधिक वक्त तक फ्रेश नहीं होता है तो समझिए उसे कब्ज हो गई है. इसका तत्काल उपचार महत्वपूर्ण है. 

कब्ज के कारण-
-असमय खाना खाना, रात में खाना खाने के तुरंत बाद सो जाना
-पानी कम पीना
-तली-गली सामग्री का ज्यादा सेवन
-एक ही प्रकार का भोजन लगातार खाना
-भोजन करने के बाद एक ही जगह पर बैठे रहना
-पेन कातिल जैसी किसी दवा का सेवन 

डाक्टर वीके राजलक्ष्मी के अनुसार, कब्ज में उपचार का सबसे बढ़िया उपचार खानपान व जीवनशैली में परिवर्तन है. आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाएं. इससे मल का वजन बढ़ जाएगा व पेट साफ करने में सरलता होगी. व्यायाम प्रारम्भ कर दें. प्रातः काल उठते ही पानी पिएं. यदि गर्म पानी पिएंगे तो पेट साफ करने में सरलता होगी. यदि प्रेशर तेज है तो तत्काल टॉयलेट जाएं. रोके नहीं. रोकने से समस्या हो सकती है.

सुबह उठने के बाद पानी में नींबू का रस व काला नमक मिलाकर पीने से भी पेट साफ होता है. यदि इस तरीका के बाद भी समस्या बनी हुई है तो जुलाब का प्रयोग करते सकते हैं. कई तरह के जुलाब उपस्थित हैं. जैसे - फाइबर युक्त जुलाब, ऑस्मोटिक जुलाब, स्नेहक जुलाब, मल को नर्म करने वाले जुलाब व एनिमा या सपोजिटरी जुलाब.

आयुर्वेद कहता है कि कब्ज में शहद बहुत लाभकारी है. रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद को एक ग्लास पानी के साथ मिलाकर पिएं. नियमित रूप इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाती है. 

रात में आजमाया जाने वाला तरीका है हरड़ या त्रिफला के पावडर को पानी के साथ लेना. गुनगुने पानी में इसके नियमित सेवन से कब्ज के साथ ही पेट की अन्य समस्याएं भी दूर हो जाएंगी. इसके अतिरिक्त रात को सोने से पहले 6 से 7 मुनक्का खाएं. सर्दी के मौसम में प्रयास करें कि दिनभर में गुनगुना पानी पिएं.

भोजन में काला नमक, आधा नींबू, सिका जीरा, हींग व सलाद की मात्रा बढ़ाएं. इससे कब्ज के साथ ही पेट से जुड़ी अन्य बीमारियां भी दूर हो जाती हैं.

पपीता भी बहुत लाभकारी है. इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन डी होता है. दिन में एक बार पपीते का सेवन कब्ज दूर करता है. पका हुआ अमरूद भी इतना ही लाभकारी है. अंजीर भी कब्ज से निजात दिलाता है. अंजीर को रात में भीगो दें व प्रातः काल खाली पेट खा लें. सप्ताह भर तक ऐसा किया जाए तो कब्ज में राहत मिलती है.  

कुछ खास तरह के योगासन करने से भी कब्ज की समस्या से राहत मिल सकती है. जैसे - अधोमुख शवासन, पवनमुक्तासन, अनजनेयासन, बालासन, उत्तनासन व सुप्त मत्स्येन्द्रासन.

इन घरेलू उपायों को आजमाने के बाद भी राहत नहीं मिलती है तो चिकित्सक से संपर्क करें. लंबे समय तक कब्ज के साथ जीना कई बीमारियों का कारण बन सकता है.