हरियाणा सरकार ने योग गुरुओं को जॉब देने का किया निर्णय

हरियाणा सरकार ने योग गुरुओं को जॉब देने का किया निर्णय

 स्कूली बच्चों को स्वास्थ्य वर्धक बनाने व योग के प्रचार के लिए हरियाणा सरकार ने मुहिम चलाने का निर्णय किया है। इसी कड़ी में अब सारे प्रदेश में योग गुरुओं को जॉब देने का निर्णय किया गया है। 

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने सोमवार को बोला कि प्रदेश में योग को लोकप्रिय बनाने के लिए एक हजार आयुष सहायकों की भर्ती संविदा के आधार पर होगी।

उन्होंने बोला कि इनके आलावा 22 आयुष कोच की भर्ती संविदा के अधार पर प्रदेश की विभिन्न योगशालाओं में होगी। हरियाणा के गृहमंत्री की भी जिम्मेदारी निभा रहे विज ने बोला कि प्रदेश में स्थापित योगशालाओं के लिए सहायकों की भर्ती जिला स्तर पर गठित चयन समिति करेगी जिसका नेतृत्व जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी ऑफिसर करेंगे।

उन्होंने बोला कि जिला आयुर्वेदिक ऑफिसर समिति का सचिव होगा। इसके अतिरिक्त जिला चयन समिति में उपायुक्त, मुख्य चिकित्सा ऑफिसर खुद या उनके प्रतिनिधि शामिल होंगे व जिला खेल ऑफिसर भी समिति का भाग होगा। आधिकारिक विज्ञप्ति के मुताबिक विज ने बोला कि चयन प्रक्रिया में उस गांव या आसपास के गांव के उम्मीदवार को अहमियत दी जाएगी जहां पर योगशाला स्थित है।

उन्होंने बोला कि आयुष सहायक के तौर पर 18 से 35 वर्ष के उम्मीदवारों की भर्ती की जाएगी व 11 हजार रुपये महीना मानदेय दिया जाएगा। विज ने बोला कि उम्मीदवार को हरियाणा स्कूल एजुकेशन बोर्ड या केंद्रीय माध्यमिक एजुकेशन बोर्ड से 12वीं की इम्तिहान पास होना चाहिए व मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से योग में डिप्लोमा होना चाहिए।

उन्होंने बोला कि आयुष सहायक योगशाला के प्रभारी के तौर पर कार्य करेंगे व अन्य जिम्मेदार भी उन्हें दी जाएगी। विज ने बोला कि 22 आयुष कोच की भर्ती नियमित आधार पर हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग करेगा।

उन्होंने बोला कि आयोग द्वारा भर्ती प्रक्रिया पूरी होने तक आयुष कोच की भर्ती प्रदेश स्तर पर चयन आयोग ऑउटसोर्स नीति के तहत करेगा व उन्हें 20 हजार रुपये का मानदेय मिलेगा। इन 22 योग कोच को प्रत्येक जिले में तैनात किया जाएगा।