डिलीवरी के बाद होने वाले पीठ दर्द से ऐसे पाएं छुटकारा

डिलीवरी के बाद होने वाले पीठ दर्द से ऐसे पाएं छुटकारा

माँ बनना लड़की का सपना होता है। एक बच्चे को जन्म देने में एक महिला के शरीर को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, कई महिलाओं को डिलिवरी के बाद पीठ दर्द की समस्या हो जाती है। जो काफी तकलीफ देह होती है। 

पीठ दर्द से छुटकारा पाने के कुछ आसान उपाय:

महिलाएँ अपने बच्चे को झुककर दूध पिलाती है जिसके कारण उनकी पीठ में दर्द होने लगता है। इसलिए जब भी अपने बच्चे को दूध पिलाये तो अपनी पीठ के पीछे तकिया लगा लें।

अगर आपकी पीठ में डिलीवरी के बाद दर्द रहता है तो इसके लिए रोज़ाना एक्सरसाइज करे, इससे आपकी हड्डिया मजबूत होगी और हड्डी मजबूत होने पर पीठ दर्द अपने आप गायब हो जाएगा।

डिलवरी के बाद अपने खाने में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर युक्त आहारों को शामिल करे। फल, हरी सब्जियां, जूस, दूध और सूखे मेवे खाने से भी पीठ के दर्द में आराम मिलता है।

बच्चे को जन्म देने के बाद रोज़ाना अपनी पीठ की मसाज करवाए, और इस बात का हमेशा ध्यान रखे की कभी भी मालिश करवाने के बाद एकदम से न नहाएं। 

अगर आप पीठ के निचले हिस्से और रीढ़ की हड्डी की मसाज करवाते है तो इससे राहत मिलती है।


पोस्ट कोविड डायबिटीज पेशेंट्स को खानपान में शामिल करनी चाहिए ये चीज़ें

पोस्ट कोविड डायबिटीज पेशेंट्स को खानपान में शामिल करनी चाहिए ये चीज़ें

कोरोना का कहर पिछले दिनों की अपेक्षा अब कुछ कम जरूर हुआ है पर वायरस में म्यूटेशन और नए स्ट्रेन का डर अभी भी लोगों के मन में बरकरार है और यह सवाल लगभग सभी के मन में उठ रहा है कि क्या सब वाकई ठीक हो गया है? ऐसा सवाल इसलिए जहन में आ रहा है क्योंकि कोविड से ठीक होने के बाद भी लोगों को गंभीर थकान और कमजोरी का एहसास हो रहा है। इतना ही नहीं कोरोना के जिन संक्रमितों को डायबिटीज की समस्या है, उन्हें रिकवरी में और वक्त लग सकता है। ऐसे में एक्सपर्ट्स उन्हें एक परफेक्ट डाइट चार्ट को फॉलो करने की सलाह देते हैं। क्या खास चीज़ें होनी चाहिए इस डाइट चार्ट में, आइए जानते हैं...

शुगर को कंट्रोल रखने पर ध्यान दें

डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए कोविड- 19 से ठीक होने के बाद आहार पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। संक्रमण के दौरान और ठीक होने के बाद बहुत से लोगों को थकान व अन्य दिक्कतें महसूस हो रही हैं। डायबिटीज के पेशेंट्स का शुगर लेवल भी संक्रमण के बाद बढ़ा हुआ देखा जा रहा है। ऐसे में इन लोगों को सिर्फ उन्हीं खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो शरीर को ताकत देने के साथ शुगर के लेवल को भी कंट्रोल करने में मदद करें। इन दोनों में से एक में भी कमी, रिकवरी को प्रभावित कर सकती है।


प्रोटीन युक्त आहार लेना चाहिए

डायबिटीज रोगियों को कोविड से ठीक होने के बाद तेज रिकवरी के लिए आहार में प्रोटीन की मात्रा बढ़ानी चाहिए। राजमा, चना, दाल प्रोटीन से भरपूर होते हैं। इनमें शुगर की भी मात्रा कम होती है। कोविड से ठीक हुए लोगों को चिकन, अंडे और मछली, दूध, दही और पनीर भी लेना चाहिए।

ऐसे फलों के सेवन से बचें

मौसमी फलों को विटामिन और खनिजों का बेहतर स्त्रोत माना जाता है। विटामिन और खनिज शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा कई फल फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर होते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में मदद करते हैं। हालांकि। मधुमेह के रोगियों को केला, आम और चीकू जैसे फलों के सेवन से बचना चाहिए।


साबुत अनाज

कोविड से ठीक हुए रोगियों को आहार में साबुत अनाजों को जरूर शामिल करना चाहिए। साबुत अनाज फाइबर से भरपूर होने के साथ रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करने में भी मदद करते हैं। अपने आहार में रागी, बाजरा और ज्वार जैसे साबुत अनाज को शामिल करने का प्रयास करें।