बच्चे को है सर्दी-ज़ुकाम, तो ये आम फ्लू है या कोरोना वायरस?

बच्चे को है सर्दी-ज़ुकाम, तो ये आम फ्लू है या कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस महामारी को शुरू हुए नौ महीने हो चुके हैं, इसके अलावा अब मौसम में बदलाव के साथ आम फ्लू, सर्दी और ज़ुकाम जैसी बीमारियों के लिए भी लोग तैयार हैं। मौसम में बदलाव के साथ बच्चों में सर्दी-ज़ुकाम हो जाना एक आम बात है, लेकिन इस साल स्थिति बिल्कुल अलग है। पिछले साल दिसंबर में शुरू हुए कोरोना वायरस का आज 9 महीनों बाद भी दुनिया भर में कहर जारी है।

कोरोना वायरस से लोग इस कदर डरे हुए हैं कि बच्चे कि एक छींक भी उन्हें हाई अलर्ट पर ला खड़ी करती है। तो, अगर आपके बच्चे को ज़ुकाम हो गया है, उसकी नाक बह रही है और शरीर गर्म हो रहा है, तो आपको क्या करना चाहिए? क्या ये लक्षण आम फ्लू के हैं या फिर कोरोना वायरस के?

फ्लू और ज़ुकाम का मौसम  

बच्चों में कोरोना वायरस कितना प्रभावी होता है, इस बारे में अभी काफी रिसर्च होनी बाकी है। अभी तक आई रिपोर्ट्स और सर्वे के मुताबिक, कोरोना वायरस बच्चों में गंभीर रूप नहीं लेता है। हालांकि, बच्चों में नया पीडियाट्रिक इंफ्लामेटरी मल्टी-सिस्टम सिंड्रोम के मामले बढ़ते नज़र आ रहे हैं। ये बीमारी कोविड-19 से पीड़ित होने के बाद होती है, जो काफी गंभीर और जानलेवा साबित होती है। 

इसलिए जब ज़ुकाम और फ्लू का मौसम शुरू होने वाला है, तो इस बीमारी के लिए तैयार रहना ज़रूरी है।


बच्चे को ज़ुकाम है या फिर कोविड-19 ये कैसे पता चलेगा?

अगर बच्चे में फ्लू जैसे लक्षण नज़र आए, तो इस 3 चीज़ों का ध्यान रखें।

बच्चे के लक्षणों पर ध्यान रखें

सबसे परेशानी की बात ये है कि कोरोना वायरस और आम सर्दी-ज़ुकाम के लक्षण काफी हद तक एक सामान हैं। इसीलिए लक्षणों पर ध्यान देना ज़रूरी है ताकि स्वाद या सुगंध का न महसूस होना, दस्त के साथ ज़ुकाम और खांसी होने पर जल्द से जल्द इलाज हो पाए। अगर इस मौसम में आपके बच्चे की सिर्फ नाक बह रही है या उसे ज़ुकाम है, तो घबराने की ज़रूरत नहीं है। 

बच्चे का कोविज-19 टेस्ट करवाएं

क्योंकि कोरोना वायरस के लक्षण कई हैं और ये तेज़ी से फैल भी रहा है, इसलिए आप बच्चे का टेस्ट भी करवा सकते हैं। अगर आपको लगता है कि आपका बच्चा किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया है और उसे वहीं से वायरस लग गया है, तो टेस्ट कराना सही होगा।

मल्टी-सिस्टम इंफ्लामेटरी सिंड्रोम के लक्षणों पर ध्यान दें

मल्टीसिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम बच्चों में कोरोना वायरस से होने वाली एक गंभीर और जानलेवा बीमारी है। इस बीमारी के लक्षण काफी अलग हैं, इसलिए जैसे ही आपको ये लक्षण दिखें, फौरन डॉक्टर से सलाह लें। मल्टी-सिस्टम इंफ्लामेटरी सिंड्रोम के लक्षण:

1. तेज़ बुख़ार

2. पेट में दर्द

3. लाल आंखें

4. चकत्ते

5. लाल और फटे होंठ

6. हाथों और पैरों में सूजन

7. कमज़ोरी 


सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें

सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें

इंसान की भावनाएं अधिक प्रबल होती हैं। अगर वह अच्छे वक्त से गुजरता है तो फूले नहीं समाता है। वहीं, अगर बुरे वक्त से गुजरता है तो उसकी नींद उड़ जाती है। साथ ही डिजिटल दुनिया में इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों की वजह से भी लोगों की नींद गायब हो रही है। ऐसे में आपको यह जानना जरूरी है कि सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। अगर आपको पता नहीं है तो आइए जानते हैं-

रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें

जैसा कि हम सब जानते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के कारण लोग अपने घरों में रहने को मजबूर है। इस वजह से लोग अपने घरों से से ही काम कर रहे हैं। लॉकडाउन के चलते लोग शारीरिक श्रम नहीं कर पा रहे हैं, जिसके चलते उन्हें रात में नींद नहीं आती है। ऐसे में अच्छी नींद के लिए रोजाना हल्की-फुल्की एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए।

झपकी जरूर लें

अगर आप रात में ठीक से सो नहीं पाते हैं तो दिन में 20 मिनट की झपकी जरूर लें। इससे आपको रात में नींद नहीं आने की समस्या से निजात मिल सकता है।

चाय और कॉफी से दूर रहें

अगर आप रात में अच्छी नींद लेना चाहते हैं तो चाय और कॉफ़ी से दूर रहें। इनमें कैफीन पाया जाता है जिससे रात की नींद उड़ जाती है। अगर बहुत तलब है तो दिनभर में एक कप कॉफ़ी पिएं।

अल्कोहल से दूर रहें

ऐसा माना जाता है कि अल्कोहल के सेवन से एक पहर की नींद आती है, लेकिन दूसरे पहर में नींद गायब हो जाती है। इससे सर्काडियन रिदम ( सोने की प्रक्रिया ) प्रभावित होता है। अगर आप रात में अच्छी नींद चाहते हैं तो अल्कोहल से दूर रहें।

मोबाइल का यूज़ न करें

रात में सोने से एक घंटा पहले मोबाइल और गैजेट्स को स्लीप मोड में डालकर रख दें। ऐसा कहा जाता है कि इन उपकरणों से निकलने वाली ब्लू रोशनी नींद को प्रभावित करती है।


NIOS द्वारा मदरसों में गीता, रामायण की पढ़ाई वाली रिपोर्ट गलत, केंद्र ने कहा...       महाराष्ट्र व केरल में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के नए मामले       SC का निर्देश, प्राइवेट अस्पतालों में इलाज के लिए बुजुर्गों को मिले प्राथमिकता       जम्मू-कश्मीर परिसीमन आयोग को मिला एक साल का विस्तार       इन राज्यों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की चेतावनी, जानें       पीएम मोदी को कल ऊर्जा एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए मिलेगा अंतरराष्ट्रीय सम्मान       ओटीटी प्‍लेटफार्म के प्रतिनिधियों से मिले प्रकाश जावडेकर, बोले...       बेटी के पैदा होने पर क्रिकेट से दूर रहे थे विराट कोहली, जानें       Qubool Hai 2.0 Trailer: क्या परवान चढ़ेगी ज़ोया-असद की प्रेम कहानी? देखिए       इंदू की जवानी, साइलेंस और क़ुबूल है 2.0 समेत इस महीने आएंगी ये फ़िल्में और वेब सीरीज़       Dhamaka Teaser: कार्तिक आर्यन ने दी 'ब्रेकिंग न्यूज़', नेटफ्लिक्स पर करेंगे 'धमाका'       Tandav Web Series केस में अमेज़न प्राइम वीडियो ने पहली बार मांगी माफ़ी       Netfilx ने किया 40 से अधिक वेब सीरीज़, फ़िल्मों और शोज़ का एलान, कई सितारों की दस्तक       बताया- क्यों इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज को कराना चाहती है ड्रॉ, कप्तान जो रूट ने किया खुलासा!       IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी       मोटेरा की पिच को लेकर इंग्लैंड के दिग्गज ने कसा तंज, बोले...       प्रेस कॉन्फ्रेंस में टर्निंग पिच के सवाल पर भड़के विराट कोहली       फैंस के नंबर्स की तरफ मेरा ध्यान नहीं, एक अच्छा क्रिकेटर व इंसान बनना चाहता हूं : विराट कोहली       ट्रंप बनाएंगे अलग पार्टी! राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के दिए संकेत       रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...