खतरनाक है चिकनगुनिया ! पहले ही जान लें इससे जुड़ी हर एक बात

खतरनाक है चिकनगुनिया ! पहले ही जान लें इससे जुड़ी हर एक बात

चिकनगुनिया बुखार भी मच्छर की वजह से होने वाली बीमारियों में से एक है। चिकनगुनिया ऐसी बीमारी है, जो ठीक तो कुछ दिनों में हो जाती है, लेकिन इसका असर एक दो महीने नहीं बल्कि कई सालों तक रहता है। इस बीमारी के दौरान हड्डियों में होने वाला दर्ज कई दिनों तक ठीक नहीं होता है। ऐसे में इसका बचाव करना बहुत जरूरी है और पहले से ही ध्यान रखना आवश्यक है। जानते हैं इस बीमारी से जुड़ी हर एक बात...

चिकनगुनिया के लक्षण

आमतौर पर, इस बीमारी को जोड़ों के दर्द के साथ अचानक बुखार और कंपकंपी शुरू होने से जाना जाता है। इसके अलावा मरीज को मांसपेशियों में दर्द, थकान और मतली, सिरदर्द, चकत्ते/दाने और जॉइंट पेन की शिकायत होती है। यह दर्द चिकनगुनिया बुखार ठीक होने के बाद भी बना रहता है।

चिकनगुनिया के कारण

चिकनगुनिया वायरस संक्रमित मच्छर के काटने से फैलता है। मच्छर चिकनगुनिया वायरस से पीड़ित व्यक्ति को काटने पर स्वयं संक्रमित हो जाता है। चिकनगुनिया के वायरस को 'साइलेंट' संक्रमण (बीमारी के बिना संक्रमण) के रूप में देखा जाता है।

चिकनगुनिया का क्या है इलाज?

चिकनगुनिया का कोई विशेष उपचार उपलब्ध नहीं है और कोशिश की जाती है कि किसी दवाई के माध्यम से लक्षणों को कम किया जाए। ऐसे में दर्द से राहत में स्‍टेरॉइड रहित एंटी इंफ्लेमेटरी दवाएं सहायता करती है। एंटीवायरल दवाएं जैसे कि ऐसीक्लोविर (यह सीरियस मामले में डॉक्टर की ओर से दी जाती है।) दी जाती है। साथ ही अधिक से अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है।

चिकनगुनिया की रोकथाम

चिकनगुनिया संक्रमण का उपचार करने के लिए चिकनगुनिया वायरस का टीका उपलब्ध नहीं है और चिकनगुनिया की दवाएं भी उपलब्ध नहीं हैं। मच्छर के काटने से बचना ही चिकनगुनिया की रोकथाम है। मच्छरों के प्रजनन स्थलों को नष्ट करना रोकथाम का अहम सहारा है। चिकनगुनिया की रोकथाम मच्छरों की ओर से प्रसारित होने वाली अन्य वायरल संक्रामक बीमारियों की तरह होती है।

चिकनगुनिया से बचने के लिए करें ये उपाय

- कीट दूर भागने वाले उत्पादों जैसे कि डीईईटी, पिक्काडीन का उपयोग करें और स्किन पर यूकेलिप्टस नींबू का तेल लगाएं।

- हमेशा पैकेज पर लिखे निर्देशों का पालन करें।

- शरीर को पूरी तरह ढकने वाले कपड़े पहनें ताकि मच्छरों के काटने से बचा जा सके।

- मच्छरों को अंदर आने से रोकने के लिए खिड़कियों और दरवाजों पर कोई प्रबंध कर लें।  


सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें

सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, जानें

इंसान की भावनाएं अधिक प्रबल होती हैं। अगर वह अच्छे वक्त से गुजरता है तो फूले नहीं समाता है। वहीं, अगर बुरे वक्त से गुजरता है तो उसकी नींद उड़ जाती है। साथ ही डिजिटल दुनिया में इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों की वजह से भी लोगों की नींद गायब हो रही है। ऐसे में आपको यह जानना जरूरी है कि सोते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए। अगर आपको पता नहीं है तो आइए जानते हैं-

रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें

जैसा कि हम सब जानते हैं कि कोरोना वायरस महामारी के कारण लोग अपने घरों में रहने को मजबूर है। इस वजह से लोग अपने घरों से से ही काम कर रहे हैं। लॉकडाउन के चलते लोग शारीरिक श्रम नहीं कर पा रहे हैं, जिसके चलते उन्हें रात में नींद नहीं आती है। ऐसे में अच्छी नींद के लिए रोजाना हल्की-फुल्की एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए।

झपकी जरूर लें

अगर आप रात में ठीक से सो नहीं पाते हैं तो दिन में 20 मिनट की झपकी जरूर लें। इससे आपको रात में नींद नहीं आने की समस्या से निजात मिल सकता है।

चाय और कॉफी से दूर रहें

अगर आप रात में अच्छी नींद लेना चाहते हैं तो चाय और कॉफ़ी से दूर रहें। इनमें कैफीन पाया जाता है जिससे रात की नींद उड़ जाती है। अगर बहुत तलब है तो दिनभर में एक कप कॉफ़ी पिएं।

अल्कोहल से दूर रहें

ऐसा माना जाता है कि अल्कोहल के सेवन से एक पहर की नींद आती है, लेकिन दूसरे पहर में नींद गायब हो जाती है। इससे सर्काडियन रिदम ( सोने की प्रक्रिया ) प्रभावित होता है। अगर आप रात में अच्छी नींद चाहते हैं तो अल्कोहल से दूर रहें।

मोबाइल का यूज़ न करें

रात में सोने से एक घंटा पहले मोबाइल और गैजेट्स को स्लीप मोड में डालकर रख दें। ऐसा कहा जाता है कि इन उपकरणों से निकलने वाली ब्लू रोशनी नींद को प्रभावित करती है।


NIOS द्वारा मदरसों में गीता, रामायण की पढ़ाई वाली रिपोर्ट गलत, केंद्र ने कहा...       महाराष्ट्र व केरल में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के नए मामले       SC का निर्देश, प्राइवेट अस्पतालों में इलाज के लिए बुजुर्गों को मिले प्राथमिकता       जम्मू-कश्मीर परिसीमन आयोग को मिला एक साल का विस्तार       इन राज्यों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की चेतावनी, जानें       पीएम मोदी को कल ऊर्जा एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए मिलेगा अंतरराष्ट्रीय सम्मान       ओटीटी प्‍लेटफार्म के प्रतिनिधियों से मिले प्रकाश जावडेकर, बोले...       बेटी के पैदा होने पर क्रिकेट से दूर रहे थे विराट कोहली, जानें       Qubool Hai 2.0 Trailer: क्या परवान चढ़ेगी ज़ोया-असद की प्रेम कहानी? देखिए       इंदू की जवानी, साइलेंस और क़ुबूल है 2.0 समेत इस महीने आएंगी ये फ़िल्में और वेब सीरीज़       Dhamaka Teaser: कार्तिक आर्यन ने दी 'ब्रेकिंग न्यूज़', नेटफ्लिक्स पर करेंगे 'धमाका'       Tandav Web Series केस में अमेज़न प्राइम वीडियो ने पहली बार मांगी माफ़ी       Netfilx ने किया 40 से अधिक वेब सीरीज़, फ़िल्मों और शोज़ का एलान, कई सितारों की दस्तक       बताया- क्यों इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज को कराना चाहती है ड्रॉ, कप्तान जो रूट ने किया खुलासा!       IPL को लेकर दिए विवादित बयान के बाद डेल स्टेन ने मांगी माफी       मोटेरा की पिच को लेकर इंग्लैंड के दिग्गज ने कसा तंज, बोले...       प्रेस कॉन्फ्रेंस में टर्निंग पिच के सवाल पर भड़के विराट कोहली       फैंस के नंबर्स की तरफ मेरा ध्यान नहीं, एक अच्छा क्रिकेटर व इंसान बनना चाहता हूं : विराट कोहली       ट्रंप बनाएंगे अलग पार्टी! राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के दिए संकेत       रात में चमकीली रोशनी से खौफ में आए लोग, फिर...