चौतरफा प्रयासों से ही पटरी पर आएगी इकोनॉमी, आशंका से कम रहा है दूसरी लहर में नुकसान: RBI

चौतरफा प्रयासों से ही पटरी पर आएगी इकोनॉमी, आशंका से कम रहा है दूसरी लहर में नुकसान: RBI

केंद्रीय बैंक को यकीन है कि कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी को उतना नुकसान नहीं हुआ है, जितने की आशंका थी। लेकिन बैंक यह भी मान रहा है कि इकोनॉमी को सही रास्ते पर लाना अकेले उसके बूते की बात नहीं होगी। यही वजह है कि आरबीआइ गवर्नर डॉ. शक्तिकांत दास ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद इकोनॉमी को सही दिशा में लाने के लिए सरकार के स्तर पर भी बड़े कदम उठाने की जरूरत पर बल दिया है।

मौद्रिक नीति समिति (MPC) की हालिया बैठक की अध्यक्षता करते हुए दास ने कहा है कि इकोनॉमी को गति देने के लिए राजकोषीय, मौद्रिक और क्षेत्रीय हर स्तर पर कदम उठाने होंगे। गवर्नर समेत एमपीसी के सभी छह सदस्यों ने फिलहाल ब्याज दरों को स्थिर रखने का समर्थन किया है। लेकिन समिति ने यह आश्वासन भी दिया है कि आगे हालात को देखते हुए ब्याज दर निचले स्तर पर रखने की कोशिश जारी रहेगी।

आरबीआइ गवर्नर ने स्पष्ट कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए समग्र मौद्रिक उपाय किए जाने की जरूरत है। साथ ही यह भी व्यवस्था होनी चाहिए कि महंगाई की स्थिति भी आने वाले दिनों में लक्ष्य (दो से छह फीसद) के दायरे में हो। कृषि क्षेत्र की स्थिति को उन्होंने बेहद संतोषजनक बताया है और कहा है कि चालू वित्त वर्ष के दौरान भी अर्थव्यवस्था को मजबूती देने में इसका योगदान काफी अहम होगा।


एमपीसी के सभी पांच सदस्यों ने कहा है कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद इकोनॉमी की रफ्तार को लेकर अनिश्चतता है। लेकिन यह भी संकेत है कि हालात पिछले वर्ष की तरह खराब नहीं हैं। सभी ने महंगाई के मोर्चे को लेकर उपजे संकेतों और ग्रामीण व अर्ध-शहरी क्षेत्रों में मांग घटने को लेकर चिंता जताई है। सबका यह भी मानना है कि टीकाकरण की रफ्तार से ही आगे की स्थिति स्पष्ट होगी। केंद्रीय बैंक ने यही बात एक दिन पहले इकोनॉमी के हालात पर जारी एक अन्य रिपोर्ट में की है।


Skoda CNG Cars: स्कोडा हिंदुस्तान में नहीं करेगी सीएनजी कार लॉन्च

Skoda CNG Cars: स्कोडा हिंदुस्तान में नहीं करेगी सीएनजी कार लॉन्च

नई दिल्ली: पेट्रोल की बढ़ती हुई कीमतों से परेशान लोग पेट्रोल के विकल्प की ओर देख रहे है. साथ ही कार कंपनियां भी पेट्रोल के विकल्प के तौर पर ग्राहकों के लिए सीएनजी कारों और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को तवज्जो दे रही हैं. महिंद्रा एंड महिंद्रा से लेकर टाटा मोटर्स तक ने ग्राहकों के लिए कई सीएनजी कारों का विकल्प मार्केट में मौजूद कराने पर जोर दिया हैं. लेकिन इस समय भी एक स्कोडा ऑटो कार कंपनी ने घोषणा की है कि मौजूदा समय में, जो भी मॉडल्स हिंदुस्तान में चल रहे हैं उनमें सीएनजी किट लगाने की कोई योजना नहीं है. साथ ही आने वाले समय में भी इसकी कोई योजना नहीं है.

स्कोडा ऑटो इंडिया के ब्रांड निदेशक जैक हॉलिक्स ने इस बात की पुष्टि की है कि भारतीय ग्राहकों के लिए कंपनी अपने सबसे लोकप्रिय मॉडल सेडान रैपिड में सीएनजी किट लगाने के बारे में कोई योजना नहीं बना रही है. स्कोडा ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि हिंदुस्तान में वह कोई भी नयी रैपिड लांच करने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. बल्कि कार कंपनी ने बोला है कि भारतीय ग्राहकों के लिए एक नया मॉडल लॉन्च करने की योजना बना रहे हैं.

नए मॉडल का नाम हो सकता हैं स्लाविया!

स्कोडा ऑटो कंपनी हिंदुस्तान में जो नया मॉडल लॉन्च करने जा रही हैं उसका कोड नेम ANB रखा गया है. खबरों की माने तो कंपनी इस नए मॉडल का नाम "स्लाविया" रख सकती है.

स्कोडा के ब्रांड निर्देशक हॉलिस ने पिछले महीने दिया था जवाब

स्कोडा कंपनी के ब्रांड निदेशक हॉलिस ने पहले मार्च में हिंदुस्तान में सीएनजी विकल्प वाली रैपिड लॉन्च करने की पुष्टि की थी. इसके चलते लोग अनुमान लगा रहे थे कि स्कोडा आने वाले समय में और भी कारे सीएनजी विकल्प के साथ देगी लेकिन कंपनी के निदेशक ने इस बात से साफ इन्कार कर दिया था.

हॉलिस ने बोला था कि स्कोडा ऑटो इंडिया वर्ष के अंत तक एक नयी मिडसाइज सेडान पेश करेगी. इस मिडसाइज सेडान का नाम स्लाविया रखा गया हैं. स्लाविया एमक्यूबी-एओ-इन प्लेटफार्म पर आधारित होगी. साथ ही बताया जा रहा है कि स्लाविया में 1.0 ली TSI और 1.05 ली TSI इंजन दिया जाएगा.