मोबाइल डेटा स्पीड है कम, तो जानें कैसे करना है ठीक?

मोबाइल डेटा स्पीड है कम, तो जानें कैसे करना है ठीक?

आजकल स्मार्टफोन के बिना किसी का काम नहीं चलता। और जहां स्मार्टफोन की बात हो और उसमें मोबाइल डेटा या इंटरनेट कनेक्शन ना हो तो, वह एक डब्बा समान ही है। अपनी निजी ज़िंदगी में हम भले ही लोगों से मिले ना मिले, लेकिन इंटरनेट के ज़रिये हम पूरी दूनिया से जुड़े हुए हैं। और कोरोना काल में तो इसका महत्व और भी बढ़ गया है। लॉकडाउन में सब कुछ बंद होने के बावजूद इंटरनेट व फोन होने से सब कुछ जारी रहा। ऐसे में यदि आपका नेट चलना बंद हो जाए तो सोचिए क्या होगा। आपका काम करना बंद हो सकता है, बच्चों की क्लास मिस हो सकती है, आदि जैसी कई परेशानियां खड़ी हो सकती है। तो जहां यह समस्या काफी परेशान करने वाली है, वहीं इसका सामाधान भी है।

तो चलिए जान लेते हैं कुछ ऐसे उपाय के बारे में जो आसान तो हैं ही और साथ ही आपके नेट स्पीड को ठीक भी कर सकते हैं-

अपने फोन को री-स्टार्ट करें

जब कभी भी आपके फोन का नेट स्लो हो जाए, तो यह उपाय सबसे आसान है। आप फोन को शटडाउन कर सकते हैं, और चाहें तो रीस्टार्ट भी कर सकते हैं। कई बार ऐसा करने से फोन स्लो होने की शिकायत व नेट से जुड़ी समस्या खुद हल हो जाती है। आप अपने फोन को रीस्टार्ट करके अपने मोबाइल डाटा को सही प्रकार से काम करने में मदद कर सकते हैं। यही उपाय आप अपने फोन के अलावा लैपटॉप, टैब व अन्य किसी भी डिवाइस के साथ कर सकते हैं। 

फ्लाइट मोड को इनेबल करें

नेट स्पीड ठीक करने का दूसरा तरीका ये है कि आप अपने फोन में एयरप्लेन मोड को ऑन कर दें। इसके लिए आप सेटिंग में जाकर या फिर नोटिफिकेशन पैनल पर क्लिक करके भी फ्लाइट मोड को अपने फोन में इनेबल कर सकते हैं। ऐसा करने से फोन में सभी कनेक्शन्स एक समय के लिए कट जाते हैं और फिर से रीस्टार्ट हो जाते हैं। आप कुछ समय के लिए फ्लाइट मोड को इनेबल कर, बाद में इसे डिसेबल कर सकते हैं। ऐसा करने से आप का मोबाइल डाटा फिर से सही प्रकार से काम करने लगेगा। 

मोबाइल डेटा को ऑफ-ऑन करें

एक आसान व जल्द तरीका है अपने मोबाइल डेटा को ऑफ-ऑन करना। जी हां, अपने मोबाइल डेटा की स्पीड को ठीक करने का सबसे बढ़िया तरीका है ये। आप अपने स्मार्टफोन की के नोटिफिकेशन बार या सेटिंग में जाकर पहले अपने डेटा ऑप्शन को ऑफ कर दें फिर थोड़ी देर बाद इसे फिर से ऑन करें। ऐसा करने से आप अपने मोबाइल डेटा को फिर से पहले जैसा ही शुरू कर सकते हैं। 

डेटा प्लान ज़रूर चेक कर लें

पहले सभी उपाय करने से पहले यह भी ज़रूर जांच लें कि कहीं आपका नेट पैक खत्म तो नहीं हो गया। क्योंकि अक्सर हमें याद नहीं रहता कि हमने अपने फोन का लास्ट रीचार्ज कब कराया था और उसकी वैलिडिटी कब खत्म हो रही है। इसके अलावा ये भी हो सकता है की आपको प्रतिदिन मिलने वाला डेटा खत्म हो गया हो, इसलिए आपको इंटरनेट चलाने में समस्या आ रही हो। अगर ऐसा है तो मोबाइल डेटा को सही प्रकार से चलाने के लिए आपको तुरंत ही अपने प्लान को रिचार्ज कराना होगा।

ब्राउज़र हिस्ट्री को क्लियर करें

इन सभी उपाय के अलावा आप एक काम और भी कर सकते हैं। आपके फोन में इस्तेमाल किए जाने वाले ब्राउज़र की हिस्ट्री को भी क्लियर कर लें। यह करने से भी आपके मोबाइल डेटा की स्पीड में काफी फ़र्क आपको नज़र आने वाला है। कई बार ऐसा होता है कि हम अपने फोन की सर्च हिस्ट्री को क्लियर नहीं करते हैं, जिसके कारण मोबाइल डेटा ठीक से नहीं चल पाता है। यदि हम समय-समय पर ऐसा करते रहें तो नेट चलाने में कोई भी दिक्कत नहीं आएगी।


अल्ट्राटेक 1.28 करोड़ टन क्षमता बढ़ाने पर करेगी 5,477 करोड़ रुपये का निवेश

अल्ट्राटेक 1.28 करोड़ टन क्षमता बढ़ाने पर करेगी 5,477 करोड़ रुपये का निवेश

मुंबई। देश की सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी अल्ट्राटेक सीमेंट (Ultratech cement) अपनी क्षमता में 1.28 करोड़ टन विस्तार के लिये 5,477 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इसके बाद कंपनी की कुल क्षमता 13.6 करोड़ टन सालाना से अधिक हो जाएगी।

कंपनी ने एक बयान में बृहस्पतिवार को कहा कि उसके निदेशक मंडल ने इस निवेश को मंजूरी प्रदान कर दी है। इसके तहत कंपनी कुछ निवेश नए सिरे से संयंत्र स्थापित करने पर जबकि कुछ मौजूदा संयंत्रों में क्षमता विस्तार पर करेगी।

बयान के मुताबिक इसके बाद कंपनी कि कुल उत्पादन क्षमता बढ़कर 13.62 करोड़ टन सालाना हो जाएगी। इससे कंपनी को चीन के बाहर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी बनने का रुतबा दोबारा हासिल होगा।

कंपनी ने कहा कि अतिरिक्त क्षमता का विस्तार पूर्वी, मध्य और उत्तरी क्षेत्रों के तेजी से बढ़ते बाजारों में किया जाएगा।

बयान के मुताबिक कंपनी की विस्तार योजना में राजस्थान के पाली में सीमेंट संयंत्र के साथ उत्तर प्रदेश, ओडिशा, बिहार और बंगाल के संयंत्रों में जारी सालाना 67 लाख टन का क्षमता विस्तार शामिल है।

कंपनी ने कहा कि यह विस्तार चरणबद्ध तरीके से वित्त वर्ष 2021-22 में पूरा हो जाएगा।

आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने इस बारे में कहा कि मौजूदा आर्थिक हालात में कंपनी का यह निवेश उसे देश की शीर्ष सीमेंट कंपनी से राष्ट्रीय विजेता बनाता है।


हथेली में ऐसी रेखा होने पर नौकरी में आती है बाधाएं, जानें इसके बारें में...       परमाणु बम बनाने की नई 'फैक्‍ट्री' बना रहा पाकिस्‍तान, सैटलाइट तस्‍वीरों से खुलासा       पाक की अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को ‘घोषित अपराधी’ करार दिया       हिंद महासागर में चीन को घेरने के लिए नौसेना की खास तैयारी, एयरक्राफ्ट-ड्रोन्स से रखी जा रही नजर       किसान आंदोलन जारी है, पर इन मांगों के लिए तैयार हो गई सरकार, कृषि मंत्री बोले- अगली बैठक में समाधान की उम्मीद       महाशय धर्मपाल का अजमेर से रहा नाता, निधन पर अजमेर गमगीन       दागी नेताओं पर आजीवन प्रतिबंध के हक में नहीं केंद्र सरकार, सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर स्पष्ट किया रुख       बढ़ेगी चीन की टेंशन, ब्रह्मपुत्र नदी पर सबसे लंबे पुल बनाएगा भारत, जुड़ जाएंगे वियतनाम और भूटान       NEP 2020: नई शिक्षा नीति में आरक्षण खत्म होने के सवाल का शिक्षा मंत्री ने दिए ये जवाब...       Sidharth Shukla In Broken But Beautiful season 3: सिद्धार्थ शुक्ला और सोनिया राठी जल्द 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' में आएंगे नजर, देखें टीजर       स्वाति मालीवाल ने कंगना रनौत को कहा, दिनभर ट्वीटर पर गंदगी फैलाकर खुद को शेरनी समझ रही       HCL की रोशनी नडार हैं देश की सबसे धनवान महिला, बॉयोकॉन की किरण मजूमदार शॉ दूसरे नंबर पर, जानें और कौन-कौन है इस लिस्ट में शुमार       Sushant Singh Rajput Death: सुशांत की मौत के छह महीने बाद भावुक हुए शेखर सुमन, बोले- एक दिन चमत्‍कार होगा       सुप्रीम कोर्ट बोला, मास्क नहीं लगाना दूसरों के मौलिक अधिकारों का हनन, कड़ाई से लागू हों नियम       किसान आंदोलन खत्म होने के बढ़े आसार, सरकार ने दिए समाधान निकालने के संकेत       सचिन का रिकॉर्ड तोड़कर सबसे तेजी से 12000 रन बनाने वाले बैट्समैन बने कोहली       नाराज चैनल सेवन ने कहा, बीसीसीआई से डरता है क्रिकेट आस्ट्रेलिया       अल्ट्राटेक 1.28 करोड़ टन क्षमता बढ़ाने पर करेगी 5,477 करोड़ रुपये का निवेश       आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक को डिजिटल गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने से रोका       आंदोलनकारी किसानों को बिजली इंजीनियरों ने दिया समर्थन