LPG Cylinder का प्रयोग करने के साथ जानें इसके नियम, मिल सकता है ये लाभ

LPG Cylinder का प्रयोग करने के साथ जानें इसके नियम, मिल सकता है ये लाभ

अब गैस सिलेंडर ( LPG Gas CYLINDERS ) का प्रयोग लगभग हर घर में होता है व नरेन्द्र मोदी सरकार ( Modi GOVT ) के आने के बाद तो उज्जवला योजना ( Ujjwala Yojana ) के भीतर अधिकांश घरों में गैस कनेक्शन सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं. 

भले ही लोगों ने इन गैस सिलेंडर्स का प्रयोग करना प्रारम्भ कर दिया हो लेकिन ज्यादातर एलपीजी उपभोक्ताओं ( Lpg consumers) को ये नहीं पता कि गैस कनेक्शन ( LPG Gas Connection ) के साथ उन्हें बीमा भी मिलता है वो भी 50 लाख का ( 50 LAKH RS INSURANCE WITH LPG CONNECTION ) . जी हां, ये हकीकत है. सिलेंडर के साथ मिलने वाले इंश्योरेंस का पूरा खर्च संबंधित तेल कंपनियां उठाती हैं.

दरअसल पेट्रोलियम कंपनियों भारतीय तेल ( Indian Oil ), हिन्‍दुस्‍तान पेट्रोलियम ( Hindustan Petroleum ) तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम के वितरकों को यह बीमा कराना पड़ता है. इन लोगों को ग्राहकों व अन्‍य प्रॉपर्टीज के लिए थर्ड पार्टी बीमा कवर सहित दुर्घटनाओं के लिए बीमा पॉलिसी ( Insurance Policy ) लेना होता है.

हादसा होने की सूरत में पीडित को एक महीने के अंदर इस एक्सीडेंट की सूचना पुलिस को देनी होती है. कंज्यूमर को वितरक व कंपनी को इसकी सीधे जानकारी नहीं देनी होती है. सूचना दिये जाने के बाद संबंधित ऑफिसर इस पूरी घटना की जाँच करता है व अगर एक्सीडेंट एलपीजी दुर्घटना है तो एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर एजेंसी/एरिया कार्यालय बीमा कंपनी के लोकल कार्यालय को इस बारे में सूचित करेगा. उस सूरत में पीड़ित को क्लेम दिया जाता है. बीमा रकम का दावा करने के लिए एफआईआर की कॉपी, घायलों के उपचार के खर्च का बिल व किसी की मौत होने पर उसकी रिपोर्ट संभालकर रखनी चाहिए.

प्रॉपर्टी या घर का नुकसान होने पर एक सर्वे टीम नुकसान का आकलन करती है व बीमा नियमों के मुताबिक पेमेंट काय जाता है.