लॉकडाउन में जान जोखिम डालकर एलपीजी पहुंचा रहे डिलीवरी ब्वॉय

लॉकडाउन में जान जोखिम डालकर एलपीजी पहुंचा रहे डिलीवरी ब्वॉय

नई दिल्ली: देशभर में लॉकडाउन के दौरान एलपीजी सिलेंडर की आपूर्ति को सुनिश्चित करने वालों के लिए सरकारी ऑयल कंपनियों ने पांच लाख रुपए के एक्सग्रेशिया की घोषणा की है. मतलब एलपीजी सिलेंडर पहुंचाने वाले किसी डिलीवरी ब्यॉज के साथ कोरोना संक्रमण के चलते कुछ अनहोनी होती है तो पेट्रोलियम कंपनियां डिलीवरी ब्वॉय की पांच लाख रुपए तक आर्थिक मदद करेगी. यह राशि कोरोना वायरस के संक्रमण से जांन गंवाने वाले एलपीजी डीलर्स के कर्मचारियों के परिवार को मिलेगी.

इन्हें होगा फायदा
बता दें कि सरकारी कंपनियों IOC,BPCL,HPCL ने आज जो निर्णय लिया है, इस दायरे में एलपीजी डीलर के वे कर्मचारी शामिल होंगे, जो कि 25 मार्च 2020 को उनके पेरोल पर हैं. यदि इनमें से कोई आदमी कोरोना वायरस के संक्रमण में आकर जान गंवाता है तो उनके ज़िंदगी साथी को पांच लाख रुपए का एक्सग्रेशिया कंपनी की तरफ से दिया जाएगा. यदि किसी कर्मचारी का ज़िंदगी साथी नहीं है तो उनके नजदीकी संबंधियों को यह राशि दी जाएगी.

धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम कंपनियों की इस घोषणा का किया स्वागत
पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम कंपनियों की इस घोषणा का स्वागत किया. उन्होंने ट्वीट करके कहा, 'इंडियन ऑयल, बीपीसीएल व एचपीसीएल द्वारा उठाए गए मानवीय फैसला का स्वागत करते हैं. ऐसे समय में उठाया गया यह हमारे कर्मियों द्वारा प्रदान की गई सेवाओं की एक मान्यता है. हमारे कार्मिकों का कल्याण सर्वोपरि है. यह करुणामयी कदम हमारे कार्यबल के सुरक्षा जाल को मजबूत करेगा जिससे हिंदुस्तान की कोरोना के विरूद्ध लड़ाई का समर्थन होगा.'

'देश में रसोई गैस की किल्लत नहींं'
कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए देशभर में लाॅकडाउन के बीच एलपीजी सिलेंडरों की मांग में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है. बता दें कि मार्च माह में जहां एक तरफ पेट्रोल-डीजल की मांग में गिरावट देखी जा रही है. साथ ही हवाई जहाज के ईंधन एटीएफ की मांग में 15-20 फीसदी तक गिरावट आई है. वहीं, रसोई गैस सिलेंडर की मांग में वृद्धि देखी जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान खाली वक्त में लोग घरों में तरह-तरह के पकवान पका रहें है. इसकी वजह से एलपीजी सिलेंडर की मांग में भारी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है. भारतीय तेल के अध्यक्ष संजीव सिंह ने एक वीडियो संदेश में आश्वस्त किया कि देश में रसोई गैस की कोई कमी नहीं है. उन्होंने बोला कि पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति सारे देश में सुचारू है. पेट्रोल, डीजल या रसोई गैस को लेकर कोई किल्लत या कोई परेशानी नहीं है. विशेषकर रसोई गैस के लिए आश्वस्त करना चाहता हूं कि आप लोग निश्चिंत रहें. एलपीजी की आपूर्ति सुचारू रूप से चल रही है व चलती रहेगी. ग्राहकों से निवेदन है कि पैनिक बुकिंग न करें.'