10 रुपए के शेयर ने दिया 47,150% का रिटर्न, ‘सेरा सेनेटरी वेयर' शेयर की प्राइस हिस्ट्री

10 रुपए के शेयर ने दिया 47,150% का रिटर्न, ‘सेरा सेनेटरी वेयर' शेयर की प्राइस हिस्ट्री

‘सेरा सेनेटरीवेयर'(Cera Sanitaryware) ने पिछले 20 वर्षों में 10 रुपए से बढ़कर 4,733.00 रुपए पर पहुंच गया है, जिसने इस दौरान अपने निवेशकों को 47,150% से भी अधिक का रिटर्न दिया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह शेयर पहले सिर्फ BSE (Bombay Stock Exchange) पर ही मौजूद था, जो नवंबर 2007 से BSE के साथ ही NSE (National Stock Exchange) पर भी मौजूद है.


‘सेरा सेनेटरी वेयर'(Cera Sanitaryware) शेयर की प्राइस हिस्ट्री

मार्केट एक्सपर्ट के मुताबिक जाने माने निवेशक विजय केडिया के भी पोर्टफोलियों में शामिल ‘सेरा सेनेटरी वेयर'(Cera Sanitaryware) शेयर पिछले एक वर्ष से बिकवाली के दबाव में चल रहा है, जो इस दौरान इसने अपने निवेशकों को सिर्फ 2% का रिटर्न दिया है. वहीं पिछले 5 वर्षों में यह लगभग 2,735 रुपए से बढ़कर 4,725 रुपए में पहुंच गया है, इस दौरान इसमें 75% की वृद्धि हुई है. इसके साथ ही पिछले 10 वर्ष में इस शेयर ने लगभग 1,475% रिटर्न दिया जो इस दौरान लगभग 300 रुपए से बढ़कर 4,725 पहुंचा. इसके अतिरिक्त पिछले 15 वर्षों में सेरा सेनेटरी वेयर के शेयर ने लगभग 6,650% का रिटर्न दिया, इस दौरान यह लगभग 70 रुपए से बढ़कर 4,733.00 रुपए के स्तर पर पहुंच गया. इस तरह सेरा सेनेटरी वेयर के शेयर प्राइज में (Cera Sanitaryware share price) पिछले 2 दशकों से निवेशकों को 47,150% से अधिक का रिटर्न मिला, जो 10 रुपए से बढ़कर 4,733 रुपए के स्तर पर पहुंच गया है.

1 लाख रुपए बना 9.44 करोड़ रुपए
‘सेरा सेनेटरी वेयर’ शेयर के रिटर्न हिस्ट्री के हिसाब से जिन निवेशकों ने 1 वर्ष पहले निवेश किया है तो उनका 1 लाख रुपए आज लगभग 1.75 लाख रुपए है. वहीं 10 वर्ष पहले 1 लाख रुपए निवेश करने वाले निवेशकों का पैसा लगभग 15.75 लाख हो गए हैं. इसके साथ ही 15 वर्ष पहले इतने ही रुपए निवेश करने वाले निवेशकों के पैसे 1.34 करोड़ रुपए और पिछले 20 वर्ष में 1 लाख रुपए निवेश करने वाले निवेशकों के पैसे आज लगभग 9.44 करोड़ रुपए हो गए हैं.

1 के बदले 1 शेयर
‘सेरा सेनेटरी वेयर’ शेयर ने 2010 में निवेशकों को 1:1 बोनस शेयर दिए, जिसमें शेयरहोल्डर्स को एक के बदले एक शेयर मिले. इसके कारण सेरा सेनेटरी वेयर में शेयरहोल्डर्स की शेयरधारिता संख्या दोगुनी हो गई.