खुलेआम घूम रहे गबन के फरार आरोपितों पर औरंगाबाद पुलिस मेहरबन

खुलेआम घूम रहे गबन के फरार आरोपितों पर औरंगाबाद पुलिस मेहरबन

आपरेटिव बैंक की सरकारी राशि गबन के फरार आरोपितों पर पुलिस की मेहरबान है। तभी तो गबन के आरोपित देव कोआपरेटिव बैंक के रोकड़पाल उपेंद्र कुमार, प्रभारी प्रबंधक गुप्तेश्वर प्रसाद एवं मदनपुर बैंक के कर्मी अभिषेक कुमार अब तक गिरफ्तार नहीं किए गए हैं। उपेंद्र के खिलाफ देव थाना में कांड संख्या 56/ 21, अभिषेक के खिलाफ वर्ष 2019 में नगर थाना कांड संख्या 320/ 19 एवं गुप्तेश्वर के खिलाफ देव थाना कांड संख्या 133/ 20 दर्ज है। गिरफ्तारी के प्रति कांड के आइओ सुस्त बैठे हैं और आरोपित खुलेआम घूम रहे हैं। पुलिस फरारी का बहाना बनाकर आरोपितों को लाभ पहुंचा रही है। पुलिस के इस लाभ से आरोपितों को कोर्ट से जमानत का लाभ मिल सकता है।

जमानत के बाद पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर सकती है। चर्चा है कि फरार आरोपित जमानत के लिए दौड़ लगा रहे हैं। हद तो यह कि वर्ष 2019 एवं 2020 में दर्ज कांड के आरोपित को भी पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है। सरकारी राशि गबन के आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए जिला कोआपरेटिव बैंक के प्रबंध निदेशक अमर कुमार झा  ने 18 अगस्त 2021 को एसपी को एक पत्र भेजा है। एसपी के द्वारा प्रबंध निदेशक के संबंधित पत्र के माध्यम से कार्रवाई करने का आदेश सदर एसडीपीओ को 28 अगस्त 2021 को भेजा है। एसपी का निर्देश संबंधित थानाध्यक्षों को भेजा गया होगा पर आजतक गिरफ्तारी की कार्रवाई नहीं हुई है।

गबन के आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने से वर्दी की बदनामी हो रही है। थानाध्यक्ष से लेकर कांड के आइओ पर सवाल उठ रहा है। प्रबंध निदेशक ने बताया कि सरकारी राशि गबन करने के आरोप में बैंक कर्मी उपेंद्र कुमार, अभिषेक कुमार एवं गुप्तेश्वर प्रसाद पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। तीनों बैंक कर्मियों ने बैंक की सरकारी राशि का गबन किया है। गिरफ्तारी के लिए मेरे पत्र पर एसपी के द्वारा 28 अगस्त को सदर एसडीपीओ को निर्देश पत्र भी भेजा गया है पर अबतक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। गिरफ्तारी नहीं होने पर फरार बैंक कर्मियों को जमानत का लाभ मिल सकता है। उधर एसपी ने बताया कि तीनों मामले में गिरफ्तारी अबतक क्यों नहीं हुई है इसे देखते हैं।


जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जहानाबाद में दिल्ली से आए दो भाइयों की डूबने से मौत, पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

बिहार के जहानाबाद में सोमवार को एक हादसे में दो भाइयों की मौत हो गई। जहानाबाद के मखदुमपुर प्रखंड के सोलहडा पंचायत स्थित नहर में डूबने की वजह से दिल्ली से आए दो चचेरे भाई की मौत हो गई। मौत की खबर आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। जानकारी के मुताबिक दोनों चचेरे भाई दादा के श्राद्ध काम में भाग लेने के लिए दिल्ली से गांव आए हुए थे। 


पैर फिसलने की वजह से हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक मरने वालों में राजेश राम का पुत्र सुनील कुमार 14 वर्ष एवं विमलेश प्रसाद का पुत्र दीपक कुमार 15 वर्ष बताया जाता है। दोनों रविवार की देर शाम नहर की ओर घुमने गए थे। पैर फिसल जाने के कारण दोनों गहरे में पानी चले गए और जिसकी वजह डूबने से दोनों की मौत हो गई। देर रात तक घर नहीं लौटने के बाद स्वजनों ने गांव में काफी खोजबीन की। लेकिन दोनों चचेरे भाइयों को कुछ पता नहीं चल सका। सोमवार की सुबह ग्रामीणों ने नहर में दोनों भाइयों के शव को पानी में उपलता देखा। जैसे-तैसे गांव के लोगों ने दोनों भाइयों के शवों को नहर से बाहर निकाला।  शव मिलते ही गांव में कोहराम मच गया।परिजनों को रो-रोकर बुरा हाल है। घटना की सूचना पुलिस की दी गई। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम को लेकर सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया।

 
घटना के संबंध में बताया जाता हे कि, दोनों के पिता दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करते हैं। पिता अपने बेटे के साथ पिता के श्राद्धकर्म में शामिल होने दिल्ली से गांव आए थे। सभी लोग श्राद्धकर्म में आए परिजनों के साथ व्यस्त थे। इस घटना से ग्रामीण हतप्रद है। ग्रामीणों ने बताया दोनों किशोर हंसमुख थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया। इस घटना के बाद स्वजनों का रो रोकर बुरा हाला है।